बिहार: प्रसिद्ध राजगीर के मलमास मेले पर कोरोना का साया

बिहार: प्रसिद्ध राजगीर के मलमास मेले पर कोरोना का साया

पटना (महामीडिया) बिहार के नालंदा जिले के राजगीर में विश्व प्रसिद्ध मलमास मेला लगने की परंपरा है, जिसमें बड़ी संख्या में साधु संत और श्रद्धालु जुटते थे। इस साल कोरोना काल में इस मेले पर प्रतिबंध के कारण पूरा मेला क्षेत्र सूना पड़ा हुआ है। तीन सालों में एक बार लगने वाला मलमास इस वर्ष 18 सितंबर को शुरू हुआ है। इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय तीर्थ स्थल राजगीर में अनादि काल से लगते आ रहा मलमास शुभारंभ वैदिक मंत्रोचारण और ध्वजारोहण के साथ शुक्रवार को किया गया।
प्राचीन मान्यता के अनुसार एक महीने तक चलने वाला मलमास के दौरान 33 लाख देवी देवता पूरे एक महीने तक राजगीर में हीं प्रवास करते हैं। ब्रहमकुण्ड परिसर के सप्तधारा कुण्ड में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पूजा अर्चना कर 33 करोड़ देवी देवताओं का आह्वान किया गया। इस दौरान पंडा समिति राजगीर के द्वारा कुण्ड परिसर में महाआरती का आयोजन भी किया गया।
 

सम्बंधित ख़बरें