राज्यों के पूंजीगत व्यय में कटौती होगी - आरबीआई 

राज्यों के पूंजीगत व्यय में कटौती होगी - आरबीआई 

नईदिल्ली  [ महामीडिया]भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई ने राज्यों के वित्त पर अपने सालाना अध्ययन में आज कहा है कि महामारी और राजसस्व प्रभावित होने की वजह से राज्यों के पूंजीगत व्यय में  वित्त वर्ष 21 के दौरान भारी कटौती हो सकती है।बजट का अध्ययन' नामक रिपोर्ट में पाया गया है कि राज्यों ने वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान अपने पूंजीगत व्यय में 1.26 लाख करोड़ रुपये यानी देश के सकल घरेलू उत्पाद के 0.6 प्रतिशत से बराबर भारी कटौती की। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह कम से कम पिछले दो दशक में सबसे बड़ी कटौती है और भारत में महामारी के असर के पहले ऐसा हुआ है।रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 20 में पूंजीगत व्यय में कटौती इतनी ज्यादा थी कि जीडीपी के मुकाबले सभी राज्यों का पूंजीगत व्यय गिरकर 2018-19 के स्तर पर आ गया। रिपोर्ट में कहा गया है कि मौजूदा आर्थिक स्थिति राज्यों को इस साल भी ऐसा करने के लिए बाध्य कर सकती है।10 प्रमुख राज्यों के त्वरित विश्लेषण से पता चलता है कि उन्होंने इस वित्त वर्ष के पहले 5 महीनों (अप्रैल से अगस्त) के दौरान पूंजीगत व्यय में 35 प्रतिशत की भारी कटौती की है।रिजर्व बैंक की रिपोर्ट में कहा गया है, '19 राज्यों के लिए ऋण-जीएसडीपी अनुपात 2020-21 में 25 फीसदी से ऊपर जा सकता है जिससे पूंजीगत व्यय में कटौती करने पर मजबूर होना पड़ा सकता है।'
 

सम्बंधित ख़बरें