'वर्ल्ड रोज डे' है आज

'वर्ल्ड रोज डे' है आज

नई दिल्ली (महामीडिया) आज 'वर्ल्ड रोज डे' है। आज के दिन कैंसर पीड़ितों का मनोबल बढ़ाने और फिर से जीने की आशा मिले भाव के साथ उन्हें गुलाब का फूल दिया जाता है। हर साल 22 सितंबर को 'वर्ल्ड रोज डे' मनाया जाता है।
कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिससे इसका मरीज अपना अंत मान लेता है। लेकिन थोड़ा सा मनोबल बढ़ाकर हम इस बात को कह सकते हैं कि कैंसर से लड़ा भी जा सकता है। जिससे आपकी जिंदगी की एक नई शुरुआत हो सकती हैं। हमारे द्वारा किया गया एक प्रयास कैंसर के मरीज को लड़ने का हौसला दे सकता है। 
कनाडा की रहने वाली 12 साल की मेलिंडा रोज की याद में वर्ल्ड रोड डे मनाया जाता है।  मेलिंडा को साल 1994 में महज 12 साल की उम्र में कैंसर जैसी गंभीर बीमारी हो गई थी। वह जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही थी। डॉक्टर्स ने भी उम्मीद छोड़ दी थी और घरवालों से कह दिया था कि वो सिर्फ 2 हफ्ते ही जी पाएगी, लेकिन इस नन्ही-सी बच्ची ने हार नहीं मानी और जिंदगी की जंग जीत ली। इसके बाद मेलिंडा करीब 6 महीने तक जिंदा रही, लेकिन सितंबर के महीने में उसने दुनिया को छोड़ दिया। इस बच्ची ने जिस तरह से 6 महीने तक अपनी बीमारी से लड़ाई की, ये कैंसर पीड़ितों के लिए मिसाल बन गया। इसीलिए आज के दिन कैंसर पीड़ित मरीजों को गुलाब का फूल दिया जाता है, ताकि उनके अंदर इस गंभीर बीमारी से लड़ने शक्ति आ सके और जिंदगी की जंग जीत सकें।
 

सम्बंधित ख़बरें