महामीडिया न्यूज सर्विस
12 सितंबर तक नज़रबंद रहेंगे पांचों सामाजिक कार्यकर्ता

12 सितंबर तक नज़रबंद रहेंगे पांचों सामाजिक कार्यकर्ता

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 262 दिन 4 घंटे पूर्व
06/09/2018
नई दिल्ली (महामीडिया) उच्चतम न्यायालय ने पुणे के भीमा-कोरेगांव गांव में हिंसा की घटना के सिलसिले में पांच सामाजिक कार्यकर्ताओं को घरों में ही नज़रबंद रखने की अवधि गुरुवार को 12 सितंबर तक के लिए बढ़ा दी.प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने इस मामले में पुणे के सहायक पुलिस आयुक्त के बयानों को बहुत गंभीरता से लिया और कहा कि वह न्यायालय पर आक्षेप लगा रहे हैं.पीठ ने महाराष्ट्र सरकार से कहा कि वह न्यायालय में लंबित मामलों के बारे में अपने पुलिस अधिकारियों को अधिक ज़िम्मेदार बनाएं.महाराष्ट्र सरकार की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता से पीठ ने कहा, ?आप अपने पुलिस अधिकारियों को अधिक ज़िम्मेदार बनने के लिए कहें. मामला हमारे पास है और हम पुलिस अधिकारियों से यह नहीं सुनना चाहते कि उच्चतम न्यायालय गलत है.?
और ख़बरें >

समाचार