महामीडिया न्यूज सर्विस
सुख और समृद्धि के लिए है धनतेरस

सुख और समृद्धि के लिए है धनतेरस

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 400 दिन 11 घंटे पूर्व
01/11/2018
भोपाल (महामीडिया) कार्तिक महीने की कृष्ण पक्ष त्रयोदशी के दिन धनतेरस मनाई जाती है जो इस साल 5 नवंबर को मनाया जाएगा। हिंदू मान्यताओं के अनुसार, धनतेरस के दिन खरीदारी का विशेष महत्व बताया गया है। इस दिन खरीदारी करने से घर में हमेशा सुख-शांति और समृद्धि आती है। साथ ही सालभर घर में खरीदी गईं चीजें शुभ फल देती हैं। धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि और कुबेर की पूजा की जाती है और सुख समृद्धि की कामना की जाती है। यूं भी धनतेरस पर लक्ष्मी पूजन और आह्वान का विशेष महत्व है। धनतेरस के दिन सुख समृद्धि पाने के लिए किया गया हर उपाय फलदायी होता है। इस त्योहार की सबसे बड़ी मान्यता यह है कि इस दिन की गई पूजा से व्यक्ति यम के द्वारा दी जानें वाली यातनाओं से मुक्त हो जाता है। हिन्दू धर्म में धनतेरस यश और वैभव, कीर्ति सुख-समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। धनतेरस की शाम को दीप दान किया जाता है और माना जाता है कि ऐसा करने से यमराज प्रसन्न होते हैं और इससे व्यक्ति की अकाल मृत्यु नहीं होती हैं। धनतेरस का दीपदान घर की लक्ष्मी को करना चाहिए। इस दिन किसी भी धातु के बर्तन खरीदें और उसमें मिठाई भर कर ही घर मे प्रवेश करें और धनवंतरी, कुबेर और लक्ष्मी गणेश को भोग लगाएं। इससे घर के लोग रोग, विपदाओं और द्ररिद्रता से दूर रहते हैं। ऐसी मान्यता है कि सोने-चांदी या पीतल के बर्तन खरीदने से घर में सौभाग्य, सुख-शांति और स्वास्थ्य का वास होता है।
और ख़बरें >

समाचार