महामीडिया न्यूज सर्विस
अंतरराष्ट्रीय बाजार में लकड़ी की लुगदी की कमी से दो महीने में 50% तक बढ़े कागज के दाम

अंतरराष्ट्रीय बाजार में लकड़ी की लुगदी की कमी से दो महीने में 50% तक बढ़े कागज के दाम

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 282 दिन 22 मिनट पूर्व
17/11/2018
भोपाल(महामीडिया)  देश के कागज उद्योग पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में लकड़ी की लुगदी की कमी का असर देश के बाजार पर दिखाई देने लगा है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में आने वाली पूरी लुगदी चीन उठा रहा है। इससे देश में इसका आयात जरूरत के मुताबिक नहीं हो पा रहा है। कच्चा माल न मिलने के कारण कागज की कीमतों में गत दो महीने में पचास फीसदी तक की वृद्धि हो गई है।कागज निर्माण में लगे कुटीर उद्योगों पर भी असर पड़ रहा है। इससे जुड़े तमाम लोगों की रोजी-रोटी पर खतरा उत्पन्न हो गया है। देश में वुड पल्प का बड़ी मात्रा में आयात किया जाता है। चीन में कुछ समय पहले तक रद्दी को रीसाइकिल करपल्प तैयार किया जाता था लेकिन वहां इस पर प्रतिबंध लगने के बाद चीन अंतरराष्ट्रीय बाजार से बड़ी मात्रा में वुड पल्प खरीद रहा है, जिसका सीधा असर भारतीय कागज उद्योग पर भी पड़ते दिख रहा है।
और ख़बरें >

समाचार