महामीडिया न्यूज सर्विस
दुनिया भर में कम पड़ रहे इंसुलिन

दुनिया भर में कम पड़ रहे इंसुलिन

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 146 दिन 1 घंटे पूर्व
30/11/2018
नई दिल्‍ली (महामीडिया)  टाइप-2 डायबिटीज़ के मामले में पीड़ित के ख़ून में मौजूद सुगर की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन पैदा नहीं हो पाता है.वैज्ञानिकों का मानना है कि टाइप-2 डायबिटीज़ के शिकार लाखों लोगों के लिए अगले एक दशक या उससे भी ज़्यादा समय के लिए इंसुलिन हासिल करना मुश्किल हो सकता है.दुनिया भर में इस समय 20 साल से 79 साल की उम्र वाले लगभग 40 करोड़ लोग टाइप-2 डायबिटीज़ से पीड़ित हैं.इनमें से आधे से ज़्यादा लोग चीन, भारत और अमरीका में रहते हैं.साल 2030 तक टाइप-2 डायबिटीज़ से पीड़ित लोगों का आंकड़ा 50 करोड़ तक पहुंचने की आशंका है. इसमें पीड़ित का शरीर इंसुलिन पैदा करने वाली पेनक्रेटिक सेल को नुक़सान पहुंचाना शुरू कर देता है.

और ख़बरें >

समाचार