महामीडिया न्यूज सर्विस
छत्तीसगढ़ में 80 लाख रुपए की सागौन जब्त

छत्तीसगढ़ में 80 लाख रुपए की सागौन जब्त

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 139 दिन 21 घंटे पूर्व
06/12/2018
बीजापुर(महामीडिया)      छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित बस्तर की प्राणदायनी नदी इंद्रावती जहां किसानों के लिए सिंचाई का सबसे बड़ा साधन है, वहीं यह नदी बरसात के बाद इमरती लकड़ियों के तस्करों के लिए भी परिवहन का सबसे बड़ा जरिया बन जाती है। इसी नदी के जरिये हर वर्ष करोड़ों के सागौन की लकड़ियो की तस्करी कर आंध्र, तेलंगाना और महारास्ट्र के तस्कर छत्तीसगढ़ को करोड़ों रुपयों का चूना लगाते हैं, साथ ही पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं।पिछले दो वर्षो में वन विभाग की सक्रियता के चलते विभाग के अफसरों ने करीब 80 लाख का अवैध सागौन बरामद कर तस्करों की कमर तोड़ दी है। विभाग ने पिछले दो वर्षो में लगातार छापे मारकर 173 घन मीटर अवैध सागौन जब्त किया है, जिसकी अनुमानित लागत करीब 80 लाख बताई जा रही है।

और ख़बरें >

समाचार