महामीडिया न्यूज सर्विस
प्रयागराज कुम्भ में महर्षि महेश योगी के विशाल शिविर में होंगे कई आयोजन

प्रयागराज कुम्भ में महर्षि महेश योगी के विशाल शिविर में होंगे कई आयोजन

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 68 दिन 15 घंटे पूर्व
11/01/2019
भोपाल (धर्मेन्द्र सिंह ठाकुर)। मकर संक्रांति के दिन से प्रारम्भ हो रहे प्रयागराज कुम्भ मेले में महर्षि महेश योगी संस्थान का विभिन्न धार्मिक, सांस्कृतिक और स्वास्थ्य सम्बंधी आदि समावेश के साथ एक विशाल पंडाल में एक माह तक शिविर लगाया जा रहा है। इस शिविर में महर्षि संस्था के प्रमुख ब्रह्मचारी गिरीश जी की उपस्थिति में लाखों श्रद्धालु शामिल होंगे। 
सम्पूर्ण विश्व में भारतीय ज्ञान विज्ञान के महाप्रवर्तक, भावातीत ध्यान, सिद्धि कार्यक्रम, यौगिक उड़ान के प्रणेता, सैकड़ों विद्यालय, महाविद्यालय, विश्वविद्यालय, वैदिक विद्यापीठ,  आयुर्वेद चिकित्सालयों,  शैक्षणिक एवं धार्मिक संस्थानों के संस्थापक परम पूज्नीय महर्षि महेश योगी  जी के प्रिय एवं तपोनिष्ट साधक शिष्य वेद विद्या मार्तण्ड ब्रह्मचारी गिरीश जी की गरिमामय उपस्थिति में 15 जनवरी से 16 फरवरी तक चलने वाले कुम्भ के पावन, सुखद एवं पुण्य लाभ प्राप्ति के अवसर पर महर्षि शिविर में आने वाले समस्त धार्मिक लोगों का स्वागत किया जायेगा।
महर्षि शिविर में दैनिक कार्यकर्मों के अलावा मुहूर्तांे, स्नान, ध्यान, दान, देवाराधन, यज्ञ, अनुष्ठान, भजन, कीर्तन, वेदपाठ, संत समागम, स्वागत, सम्मान  व  आशीर्वाद  कार्यकम  के साथ-साथ वैदिक विद्वानों के व्याख्यान, योगासन व भावातीत ध्यान, स्वास्थ्य व ज्योतिष परामर्श तथा कथामृत प्रवाह एवं भक्ति संगीत की प्रस्तुतियां होंगी।
कुम्भ में महर्षि शिविर में प्रत्येक दिन की शुरुआत प्रातः 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक अतिरूद्राभिषेक, यज्ञ, हवन व आरती तथा दोपहर 2.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक कथा अमृत प्रवाह का वाचन होगा। इसके  अलावा महर्षि शिविर के अन्य पंडाल में प्रातः 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक एवं दोपहर 4 बजे से रात्रि 8 बजे तक ज्योतिष परामर्श एवं योगासन, तथा भावातीत ध्यान आयोजित होंगे। साथ ही दोपहर 3 बजे से शाम 6 बजे तक प्रत्येक दिन यज्ञ, अनुष्ठान, ग्रहशांति तथा शाम 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक भजन संध्या का आयोजन होगा। कुम्भ शिविर मे प्रमुख वक्ताओं के रूप में महर्षि महेश योगी वैदिक विश्वविधालय के कुलाधिपति, महर्षि विश्व शांति आंदोलन के अध्यक्ष एवं महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय समूह के अध्यक्ष वेद विद्या मार्तण्ड ब्रह्मचारी गिरीश जी के अलावा वैदिक विश्वविधालय के कुलपति प्रो. भुवनेश शर्मा महर्षि यूनिवर्सिटी ऑफ़ मैनजमेंट एंड टेक्नोलॉजी नागपुर के प्रख्यात वैदिक विद्वान प्रो. पंकज चांदे, भावातीत ध्यान एवं सिद्धि कार्यक्रम के राष्ट्रीय संयोजक पंडित नारायण दत्त तिवारी, महर्षि वैदिक स्वास्थ्य केंद्र के निदेशक वैद्य श्री बालेंदु शेखर द्विवेदी , वैदिक विश्वविधालय  जबलपुर के कुलसचिव अरविन्द सिंह राजपूत  एवं वैदिक विश्वविधालय की दूरस्थ शिक्षा निदेशक श्रीमती नमिता पाठक अपने-अपने विभिन्य विषयों पर उद्बोधन देंगे।
दैनिक  कार्यक्रमों के अंतर्गत वैदिक  विश्वविधालय के ज्योतिषाचार्य एवं उपाचार्य डॉ. निलिम्प त्रिपाठी 15 जनवरी से 23 जनवरी तक श्रीमदभागवत महापुराण कथा अमृत प्रवाह द्वारा भक्ति की धारा बहाएंगे। 4 जनवरी से 30 जनवरी तक भोपाल के पंडित  चतुर नारायण  शास्त्री श्री देवी भागवत महापुराण कथा का वाचन करेंगे।
31 जनवरी से 6 फरवरी तक पुनः डॉ. निलिम्प त्रिपाठी श्री शिव महापुराण कथा का वाचन करेंगे। 7 फरवरी से 15 फरवरी तक वृंदावन धाम के पंडित उपदेश कृष्ण शास्त्री श्री रामकथा पर प्रवचन देंगे। यह सभी प्रवचन दोपहर 2.30 बजे से 5.30 बजे तक होंगे। 
भजन संध्या के अंतर्गत 9 फरवरी से 11 फरवरी तक विख्यात शास्त्रीय संगीतज्ञ एवं भजन गायिका श्रीमती अनुराधा अगस्ती और विख्यात तबला वादक एवं संतूर वादक डॉ. श्रीकांत अगस्ती की संगीतमय प्रस्तुति होगी। इसके बाद 12 एवं 13 फरवरी को विश्वविख्यात रामायणी पंडित लक्ष्मीकान्त कांडपाल श्रीरामचरित मानस की संगीतमय प्रस्तुति देंगे। भजन संध्या के अंतर्गत प्रत्येक दिन शाम 7.30 बजे से 20 एवं 22 जनवरी को सुप्रसिद्ध भजन गायिका श्रीमती प्रतिमा त्रिपाठी (नैनी इलाहाबाद) तथा 23 एवं 24 फरवरी को जबलपुर से आए सुप्रसिद्ध संगीत गायक प्रशांत घोष अपने भजनों की प्रस्तुति देंगे इनके अलावा हरिद्वार के सुप्रसिद्ध संगीत गायक एवं आकाशवाणी के कलाकार मनोज नैनवाल 29 एवं 30 जनवरी को, हल्द्वानी की ही भजन गायिका श्रीमती वर्तिका उपाध्याय 29 एवं 30 जनवरी को अपने कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगे। इसी तरह 31 जनवरी एवं 1 फरवरी को बिलासपुर की श्रीमती सरिता अमारे और 7 एवं 8 फरवरी को शहडोल के राहुल तिवारी अपने-अपने भजन गायनों की प्रस्तुति देंगे। 
यह सभी कार्यक्रम अरैल (प्रयागराज) स्थित संगम तट पर महर्षि आश्रम में लगे विशाल पंडाल में संपन्न होंगे। इस शिविर का आयोजन महर्षि संस्थान के अंतर्गत महर्षि वेद विज्ञान विश्व विद्यापीठ्म ट्रस्ट, स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती चेरिटेबल ट्रस्ट, महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय समूह एवं महर्षि विश्व शांति आंदोलन के तत्वाधान में किया जा रहा है। 

और ख़बरें >

समाचार