महामीडिया न्यूज सर्विस
कितने कश्मीरी पंडित मारे गए केन्द्र सरकार को नहीं पता

कितने कश्मीरी पंडित मारे गए केन्द्र सरकार को नहीं पता

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 29 दिन 16 घंटे पूर्व
19/01/2019
नई दिल्ली (महामीडिया)  जम्मू- कश्मीर से कश्मीरी पंडितों के विस्थापन को 29 साल का वक्त गुजर चुका है, लेकिन सरकार के पास आंकड़ा तक नहीं है कि आखिर कितने कश्मीरी पंडितों को इस दौरान अपनी जान गंवानी पड़ी थी. जनवरी 1990 में घाटी से कश्मीर पंडितों के विस्थापन का सिलसिला शुरू हुआ था और वहां से भगाए गए पंडित कभी वापस अपने घरों में नहीं जा सके. इस मुद्दे पर देश की सियासत खूब गरम हुई, लेकिन आज तक किसी भी सरकार ने कश्मीरी पंडितों की घाटी में वापसी के लिए ठोस कदम नहीं उठाए.कश्मीर में करीब 30 साल पहले 3 लाख से ज्यादा कश्मीर पंडितों को जबरन वहां से निकाला गया था. इस दौरान सैकड़ों मंदिर तबाह कर दिए गए, लेकिन इस मामले की न तो कोई SIT जांच हुई और न ही किसी आयोग का गठन किया गया. लोकतांत्रिक देश के नागरिक कश्मीर पंडितों को अपने ही घरों को छोड़कर भागने पर मजबूर होना पड़ा. उस दौर में अलगाववादी और आतंकी राज्य में अल्पसंख्यक कश्मीरी पंडितों को घाटी से भगाने के लिए आमादा थे. समुदाय के सैकड़ों लोगों ने अपनी जान गंवाई, यहां तक कि पंडितों के दरवाजों पर धमकी भरे पोस्टर चिपकाए गए थे. अखबारों में  धमकाने वाले इश्तेहार छपा करते थे.

और ख़बरें >

समाचार