महामीडिया न्यूज सर्विस
शुरू हुई विश्व प्रसिद्ध चारधाम की यात्रा

शुरू हुई विश्व प्रसिद्ध चारधाम की यात्रा

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 217 दिन 4 घंटे पूर्व
07/05/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) विश्र्व प्रसिद्ध चारधाम की यात्रा आज से शुरू हो गई है। अक्षय तृतीया पर विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा का विधिवत शुभारंभ हो गया। पारंपरिक रीति-रिवाजों और पूजा-पाठ के साथ यमुनोत्री धाम और गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने गंगा में स्नान कर दर्शन किए। इससे पहले सोमवार को गंगा की डोली अपने शीतकालीन प्रवास स्थल से गंगोत्री धाम के लिए रवाना हो गई। यमुना की डोली आज रवाना होगी। गंगोत्री और यमुनोत्री धाम चार धाम यात्रा के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। गंगोत्री मंदिर को 15 क्विंटल तो यमुनोत्री मंदिर को दो क्विंटल फूलों से सजाया गया है। जबकि केदारनाथ धाम के कपाट नौ मई और भू-वैकुंठ बदरीनाथ धाम के कपाट 10 मई को खोले जाएंगे। यह यात्रा धर्म-अध्यात्म ही नहीं, रहस्य-रोमांच की यात्रा भी है। यह यात्रा तन-मन को शांति, सुकून व शीतलता तो प्रदान करती ही है, उत्तराखंडी लोक परंपराओं के दर्शन भी कराती है। हिमालय की चारधाम यात्रा धर्मनगरी हरिद्वार और तीर्थनगरी ऋषिकेश से शुरू होती है, लेकिन शास्त्रों में इसकी शुरुआत यमुनोत्री धाम से मानी गई है। देवी यमुना भक्ति की अधिष्ठात्री हैं। 'स्कंद पुराण' के 'केदारखंड' में कहा गया है कि भक्ति के बिना ज्ञान की प्राप्ति संभव नहीं। इसलिए यमुनोत्री के बाद ही गंगोत्री धाम की यात्रा करनी चाहिए, क्योंकि देवी गंगा ही ज्ञान की अधिष्ठात्री हैं। ज्ञान इंसान को वैराग्य यानी बाबा केदार की शरण में ले जाता है। यही वह स्थिति है, जब जीवन में कुछ भी पाने की चाह शेष नहीं रह जाती। 
और ख़बरें >

समाचार