महामीडिया न्यूज सर्विस
भीषण गर्मी का रिकार्ड टूट सकता है नौतपा में

भीषण गर्मी का रिकार्ड टूट सकता है नौतपा में

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 219 दिन 21 घंटे पूर्व
09/05/2019
रायपुर (महामीडिया)  छत्तीसगढ़ में पिछले कुछ दिनों से तापमान 42 से 44 डिग्री के आसपास चल रहा है और सूरज की तपन से जीव-जंतु बेहाल हैं। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो 15 दिनों बाद जब नौतपा शुरू होगा तो पारा 45 से 47 डिग्री तक पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। अब तक पड़ी भीषण गर्मी का रिकार्ड इस साल टूट सकता है। 25 मई से शुरू हो रहा नौतपा 2 जून तक चलेगा। प्रतिदिन तापमान बढ़ता ही जाएगा। देश के कुछ इलाकों में तापमान 47 डिग्री तक पहुंच सकता है।
ज्योतिषी डॉ. दत्तात्रेय होस्केरे के अनुसार हिन्दू पंचांग के ज्येष्ठ माह में सूर्य जब भी चन्द्र प्रधान रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है तो उस दिन से नौ दिनों तक सूर्य तेजी से उष्मा उत्सर्जित करता है। इसी को नौतपा कहते हैं। अलग-अलग दिन पड़ने वाले ऊर्जा प्रधान नक्षत्रों के प्रभाव से सूर्य से तीव्र उष्मा निकलती है। 
तेज किरणों से पशु, पक्षी, इंसान सभी गर्मी के मारे त्रस्त हो जाते हैं। इस साल सूर्य 25 मई शनिवार को रात्रि 8 बजकर 24 मिनट पर रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेगा। इसके पश्चात के नौ दिनों तक अर्थात 2 जून तक भीषण गर्मी पड़ेगी॥ 25 मई को चंद्र प्रधान श्रवण नक्षत्र भी है, अतः इस बार नौतपा के पूरे नौ दिन भीषण गर्मी पड़ेगी। हो सकता है भीषण गर्मी के अब तक के सारे रिकार्ड टूट जाए।
शास्त्रीय मान्यता है कि नौतपा के दौरान यदि तेज धूप के साथ भीषण गर्मी पड़ती है तो मानसून में वर्षा अच्छी होती है। जब भी सूर्य आद्रा नक्षत्र में प्रवेश करता है तो इसे मानसून की शुरुआत माना जाता है। इस साल 22 जून को शाम 5 बजकर 17 मिनट पर सूर्य आद्रा नक्षत्र में प्रवेश कर रहा है। इस दिन धनिष्ठा नक्षत्र है और विष कुंभ योग का संयोग भी बन रहा है। इस संयोग को असामान्य वर्षा का संकेत माना जाता है। नौतपा खत्म होने के 20 दिनों बाद 22 जून को सूर्य के आद्रा नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ ही मानसून शुरू हो जाएगा। असामान्य वर्षा के चलते कहीं बाढ़ और कहीं सूखे के हालात की नौबत आएगी। खासकर देश के दक्षिण और दक्षिण मध्य क्षेत्र में असामान्य वर्षा होगी।
और ख़बरें >

समाचार