महामीडिया न्यूज सर्विस
कर्नाटक का किला बचाने में जुटी कांग्रेस

कर्नाटक का किला बचाने में जुटी कांग्रेस

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 81 दिन 17 घंटे पूर्व
28/05/2019
नई दिल्ली  (महामीडिया) लोकसभा चुनावों कांग्रेस को मिली बड़ी शिकस्त के बाद अब पार्टी में खलबली मच गई है। जहां एक तरफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस्तीफा देने पर अड़े हैं। वही कर्नाटक में हालात कुछ ठीक नहीं चल रहे हैं। कर्नाटक में जनता दल (सेक्युलर) के साथ चल रही कांग्रेस की गठबंधन सरकार पर अब संकट के बादल मंडरा रहे हैं। दोनों सहयोगी दलों के बीच दरार पड़ने की खबरों के बीच अपने किले को बचाने के लिए दिल्ली से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और राज्य के प्रभारी केसी वेणुगोपाल को बेंगलुरु भेजा गया है। दरअसल, कांग्रेस पार्टी के भीतर से विरोध के सुर उठने लगे हैं। पार्टी के भीतर बढ़ते असंतोष के बीच गठबंधन नेताओं को डर है कि लोकसभा चुनाव के नतीजों से उत्साहित बीजेपी कुछ विधायकों को खरीद सकती है। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली से जा रहे कांग्रेस के दोनों वरिष्ठ नेता राज्य सरकार के मंत्रियों, वरिष्ठ नेताओं और विधायकों से मुलाकात कर संकट को दूर करने का प्रयास करेंगे। बता दें कि 225 विधानसभा सीटों वाली राज्य विधानसभा में बीजेपी को 105 सदस्य हैं और वह सबसे बड़ी पार्टी है। हालांकि सत्तारूढ़ गठबंधन के पास 117 सदस्य हैं जिसमें कांग्रेस के 79, जेडीएस के 37 और बीएसपी के एक विधायक शामिल हैं।
और ख़बरें >

समाचार