महामीडिया न्यूज सर्विस
सिगरेट की राख में भी 250 से ज्यादा केमिकल

सिगरेट की राख में भी 250 से ज्यादा केमिकल

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 18 दिन 22 घंटे पूर्व
31/05/2019
नई दिल्ली (महामीडिया)      धूम्रपान न करने वाले लोग यह सोचकर संतोष कर सकते हैं कि वह भारत में तंबाकू का सेवन करने वाले करोड़ों लोगों में शामिल नहीं हैं। उन्हें यह बात भी तसल्ली दे सकती है कि वह धूम्रपान करने वालों के आसपास नहीं बैठते इसलिए परोक्ष रूप से धुएं के संपर्क में आकर हर साल जान गंवाने वाले लाखों पैसिव स्मोकर्स में भी वे शुमार नहीं हैं। लेकिन उन्हें यह बात परेशान कर सकती है कि वह थर्ड हैंड स्मोकिंग के खतरे में हो सकते हैं क्योंकि सिगरेट पीने के घंटों बाद भी वातावरण में सिगरेट के अवशेष रह जाते हैं जिसमें 250 से ज्यादा जानलेवा रसायन होते हैं। 

और ख़बरें >

समाचार