महामीडिया न्यूज सर्विस
आसिफा रेप कांड में फंसाये गए सभी हिंदू निर्दोष निकले

आसिफा रेप कांड में फंसाये गए सभी हिंदू निर्दोष निकले

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 16 दिन 19 घंटे पूर्व
01/06/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) जम्मू-कश्मीर के कठुआ क्षेत्र के रसाना गांव के बहुचर्चित आसिफा रेप कांड में तत्कालीन मेहबूबा सरकार और जम्मू पुलिस का हिन्दुओं को फंसाने की साजिश उजागर हो गई है। मेहबूबा और कट्टरपंथियों के दवाब में फंसाये गये 7 हिन्दु लड़कों को न्यायालय ने बरी कर दिया है।
कठुआ का यह रेपकांड पिछले साल 18 जनवरी को हुआ था। जिसमें आठ साल की बालिका आसिफा बानो का सामूहिक रेप करके हत्या कर दी गई थी। इस मामले में उस समय की मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती और मुस्लिम कट्टरपंथियों के भारी दवाब में जम्मू कश्मीर की पुलिस ने रसाना गांव के कुछ हिन्दु युवकों को आरोपी बनाकर गिरफ्तार कर लिया था। ये निर्दोष लोग एक साल से भी ज्यादा समय जेल में बंद रहे।
कठुआ के आसिफा केस में जितने भी हिंदू युवकों को गिरफ्तार किया गया था वो  सभी के सभी कोर्ट से निर्दोष छूट गए हैं ..किसी के खिलाफ कोई सुबूत नहीं मिला.. उनमें से तीन युवक उस दिन कठुआ से हजारों किलोमीटर दूर मेरठ के एक एटीएम में थे उस एटीएम का फुटेज और एटीएम से बाहर निकलते बगल के पेट्रोल पंप में लगे फुटेज भी उनके लिए सुबूत साबित हुए और दो युवक एक साथ सहारनपुर के बाजार में घूम रहे थे जिसका उन्होंने तमाम सबूत अदालत में दिया ...अदालत ने इन युवकों को छोड़ते हुए कहा पुलिस को मीडिया ट्रायल से घबराना नहीं चाहिए ..मुझे बहुत दुख है कि इन निर्दोष युवकों को इतने दिन जेल में रहना पड़ा सिर्फ इसलिए क्योंकि इनके खिलाफ मीडिया ट्रायल्स चला और कुछ सेलिब्रिटीज ने मीडिया ट्रायल शुरू कर दिया।
कठुआ केस का सबसे दुखद पहलू यह है अब आसिफा का असली बलात्कारी कौन है यह कभी पता नहीं चल सकता। क्योंकि पुलिस ने स्वरा भास्कर केजरीवाल महमूदा मुक्ति जैसे तमाम लोगों के दबाव में गलत तरीके से जांच की।
और ख़बरें >

समाचार