महामीडिया न्यूज सर्विस
भीषण तपन के चलते रेल पटरियों को भी खतरा

भीषण तपन के चलते रेल पटरियों को भी खतरा

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 17 दिन 5 घंटे पूर्व
03/06/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) देश में पड़ रही भीषण गर्मी का असर अब लोगों के साथ-साथ रेल पटरियों पर भी पड़ने लगा। भीषण गर्मी में रेल पटरी टेढ़ी-मेढ़ी हो सकती है। दो रेल पटरियों में जोड़ पर गैप कम हो सकता है। ऐसे में ट्रैक को बेहतर बनाए रखने के लिए व दुर्घटना से बचाव के लिए रेल प्रशासन ने सुरक्षा के इंतजाम कर लिए हैं। मौसम का असर रेलवे ट्रैक पर कम से कम हो इसके लिए लंबी रेल पटरियों को लगाया गया है। साथ ही स्टील स्लीपर अधिक वजन सहने लायक नहीं माने जाने पर कंक्रीट के स्लीपर लगाए गए। गर्मी में रेल पटरी फैलती है। दो रेल पटरी जहां जुड़ती हैं, उनके बीच गैप कम होने की संभावना रहती है। ऐसे ट्रैक पर ट्रेन निकलने से ट्रेन दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है। ट्रेन पटरी से उतर सकती है। ट्रेन के कोच पलट सकते हैं। राजस्थान के कोटा रेल मंडल का बहुत सा इलाका पथरीला है, जहां तापमान अन्य क्षेत्रों से अधिक रहता है। ऐसे में ट्रेनों का संचालन प्रभावित होने का खतरा रहता है। वहां तापमान अधिक होने के कारण रेल पटरी पर असर अधिक होने की संभावना रहती है। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि रेल पटरी का तापमान अधिकतम 63 से 65 डिग्री होने पर रेल पटरी सबसे अधिक प्रभावित होती है। तापमान बढ़ने पर समय-समय पर रेल पटरी का सर्वे करवाया जाता है। रेल पटरी का तनाव निकालने के लिए डिस्ट्रेसिंग की जाती है। तापमान कहीं का भी अधिक हो सकता है। तापमान बढ़ते ही ट्रैक बकलिंग का खतरा बना रहता है। पेट्रोलमैन ट्रैक के सहारे चलकर निगरानी रखता है। 

और ख़बरें >

समाचार