महामीडिया न्यूज सर्विस
बीएसएनएल, एमटीएनएल को उबारने पर जोर

बीएसएनएल, एमटीएनएल को उबारने पर जोर

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 191 दिन 5 घंटे पूर्व
03/06/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) दूरसंचार क्षेत्र की दो खस्ताहाल कंपनियों -भारत संचार निगम लिमिटेड  और महानगर टेलीफोन लिमिटेड  को दुरुस्त करना नई सरकार का प्रमुख एजेंडा होगा। इसके साथ ही 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी की तैयारी भी सरकार की प्राथमिकता में शामिल होगी। दूरसंचार विभाग ने सार्वजनिक क्षेत्र की इन दो बीमार कंपनियों को उबारने के लिए 18,000 करोड़ रुपये का सुधार पैकेज तैयार किया है जिसे मंजूरी के लिए मंत्रिमंडल के पास भेजा जाएगा। दूरसंचार विभाग के एक वरिष्ठï अधिकारी ने कहा, 'एमटीएनएल और बीएसएनएल हमारी प्राथमिकता में शामिल हैं और इस पर ध्यान दे रहे हैं। पैकेज तैयार है और नई सरकार के गठन के बाद इसे मंत्रिमंडल में भेजा जाएगा।'उन्होंने कहा कि इसमें दोनों कंपनियों के सेवानिवृत्ति पैकेज शामिल हैं। बीएसएनएल के लिए 6,365 करोड़ रुपये की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना और 4जी स्पेक्ट्रम आवंटन के लिए 6,767 करोड़ रुपये का इक्विटी निवेश किया जाना शामिल हैं।  सरकार बीएसएनएल की रियल एस्टेट संपत्तियां बेचने की भी संभावना तलाशेगी। एमटीएनएल में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना  से राजस्व पर 2,120 करोड़ रुपये का प्रभाव पड़ सकता है। बीएसएनएल के देश भर में 1.76 कर्मचारी और एमएटीएनएल के 22,000 कर्मचारी हैं। अनुमान के मुताबिक एमटीएनएल के 16,000 और बीएसएनएल के करीब 50 फीसदी कर्मचारी अगले पांच से छह साल में सेवानिवृत्त होंगे। पहले के प्रस्ताव के मुताबिक दूरसंचार विभाग ने 10 वर्षीय बॉन्ड के माध्यम से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की योजना बनाई थी, जिसका भुगतान किराये और संपत्तियों की बिक्री से प्राप्त राजस्व से किया जाना था। हालांकि विभाग के अधिकारियों ने इस प्रस्ताव का ब्योरा साझा नहीं किया।
 

और ख़बरें >

समाचार