महामीडिया न्यूज सर्विस
आज है गंगा दशहरा

आज है गंगा दशहरा

admin | पोस्ट किया गया 127 दिन 14 घंटे पूर्व
12/06/2019
भोपाल (महामीडिया) आज गंगा दशहरा है। प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ माह की शुक्ल पक्ष की दशमी को गंगा दशहरा मनाया जाता है। 75 साल बाद गंगा दशहरा के दिन 10 योग बन रहे हैं। जो कि पौराणिक काल में गंगा अवतरण के समय बने थे। गंगा अवतरण के 10 योग हैं- ज्येष्ठ, शुक्ल पक्ष, दशमी, बुधवार, हस्त नक्षत्र, व्यतिपात योग, गर करण, आनंद योग, कन्या राशि का चंद्रमा, वृषभ राशि का सूर्य है। 
पुरणों के अनुसार भगीरथी की तपस्या के बाद जब गंगा माता धरती पर आईं, उस दिन ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की दशमी थी। गंगा माता के धरती पर अवतरण के दिन को ही गंगा दशहरा के नाम से पूजा जाना जाने लगा। इस दिन गंगा नदी में खड़े होकर जो गंगा स्तोत्र पढ़ता है वह अपने सभी पापों से मुक्ति पाता है। स्कंद पुराण में दशहरा नाम का गंगा स्तोत्र दिया हुआ है।
आज के दिन गंगा जी का ध्यान करते हुए षोडशोपचार से पूजन करना चाहिए। इसके बाद ''ऊं नम: शिवायै नारायण्यै दशहरायै गंगायै नम:'' मंत्र का जाप करना चाहिए। इसके बाद 'ऊं नमो भगवते ऎं ह्रीं श्रीं हिलि हिलि मिलि मिलि गंगे मां पावय पावय स्वाहा' का जाप करना चाहिए।  मंत्र को पांच पुष्प अर्पित करते हुए गंगा को धरती पर लाने भगीरथी का नाम मंत्र से पूजन करना चाहिए। इसके साथ ही गंगा के उत्पत्ति स्थल को भी स्मरण करना चाहिए। गंगा जी की पूजा में सभी वस्तुएं दस प्रकार की होनी चाहिए। जैसे दस प्रकार के फूल, दस गंध, दस दीपक, दस प्रकार का नैवेद्य, दस पान के पत्ते, दस प्रकार के फल होने चाहिए। आज के दिन दस वस्तुओं का ही दान करना चाहिए।
और ख़बरें >

समाचार