महामीडिया न्यूज सर्विस
पेयजल से अभी भी परेशान है समूचा चैन्नई

पेयजल से अभी भी परेशान है समूचा चैन्नई

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 117 दिन 13 घंटे पूर्व
24/06/2019
चेन्नई (महामीडिया) तमिलनाडु की राजधानी चैन्नई में जल संकट गहराता जा रहा है। लोग अभी भी पेयजल के लिये परेशान हैं। बारिश कम होने से चेंबराम्बक्कम झील समेत शहर के आसपास स्थित चार झीलें सूख चुकी हैं। भूजल स्तर में भी काफी गिरावट आई है। चेन्नई अथॉरिटी ने पेयजल की आपूर्ति 40% घटाई है। जिससे आईटी सेक्टर कंपनियों, होटलों और बहुमंजिला इमारतों में लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। जल संकट का दूसरा कारण कर्नाटक के साथ चल रहा कावेरी विवाद भी है। फिलहाल, चेन्नई के करीब 46 लाख लोगों को पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है। दक्षिणी इलाके में लोगों को एक बाल्टी पानी के लिए 3 घंटे इंतजार करना पड़ रहा है। चेन्नई के ज्यादातर इलाकों में लोग टैंकरों से पानी भरने को मजबूर हैं। चेन्नई में टैंकरों से पानी लेने के लिए टोकन जारी किया जा रहे हैं। प्राइवेट मालिक प्रति टैंकर 3000 रु. से 4000 रुपए तक वसूल रहे हैं। उसके लिए हफ्ते तक की वेटिंग है। चेन्नई में पानी की भारी किल्लत से जूझ रहे लोगों का कहना है कि इससे पहले उन्होंने कभी भी ऐसी  स्थिति का सामना नहीं किया है। हालात इतने ज्यादा खराब हो गए हैं कि बोरवेल से पानी नहीं आ रहा है। कुएं का पानी भी औसत से बहुत नीचे चला गया है। 
बता दें कि राज्य के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी एक्शन मोड में आ गए हैं। उन्होंने शुक्रवार को था कि एक करोड़ लीटर पानी वेल्लोर के जोलारपेट से ट्रेन के जरिए चेन्नई भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि छह महीने तक इस तरीके से यहां जल पहुंचाया जाएगा और इसके लिए 65 करोड़ रुपये की राशि अलग से रखी गई है।
और ख़बरें >

समाचार