महामीडिया न्यूज सर्विस
छत्तीसगढ़ से गुजरे थे प्रभु राम

छत्तीसगढ़ से गुजरे थे प्रभु राम

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 66 दिन 10 घंटे पूर्व
13/07/2019
रायपुर[ महामीडिया ] भगवान राम पथ के रूप में छत्तीसगढ़ भी शामिल कर लिया गया है। केंद्र और राज्य सरकार दोनों भगवान राम के पदचिन्हों को पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विस्तारित कर रही हैं। दोनों ही योजनाएं लागू हो गईं तो रामायण सर्किट का लाभ छत्तीसगढ़ को मिलेगा। रामायण सर्किट की थीम में नौ राज्यों के 15 स्थानों को विकसित करने की योजना बनाई गई है।इसमें केंद्र सरकार ने स्वदेश योजना के तहत रामायण परिपथ थीम में छत्तीसगढ़ समेत उत्तरप्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, ओडिशा, महाराष्ट्र, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु को शामिल किया है। वरिष्ठ इतिहासकार का कहना है कि छत्तीसगढ़ का रामायणकाल से गहरा नाता है। ये बातें पुराणों में पढ़ने और सुनने को तो मिलती हैं। किवंदति है या सत्य, इस पर गहन शोध और व्यापक अन्वेषण करने की आवश्यकता है। जिन-जिन स्थलों को रामायणकालीन होने की बातें कही-सुनी जाती है, उन जगहों की खुदाई करके सत्यता का पता लगाया जा सकता है। छत्तीसगढ़ की ऐतिहासिकता के लिए सरकार को विश्वस्तरीय सर्वेक्षण कराने की आवश्यकता है।

और ख़बरें >

समाचार