महामीडिया न्यूज सर्विस
मध्यप्रदेश में रूठे बादल

मध्यप्रदेश में रूठे बादल

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 55 दिन 3 घंटे पूर्व
24/07/2019
भोपाल (महामीडिया) प्रदेश में मानसून के सुस्त रवैये के कारण किसान मायूस हैं। आसमान साफ होने से चटक धूप निकलने लगी है। इससे दिन के तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। वहीं, उमस से लोग बेहाल हो रहे हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक फिलहाल प्रदेश में कोई सिस्टम सक्रिय नहीं है। पिछले एक पखवाड़े से सूखे जैसी स्थिति ने खेती बाड़ी पर विपरीत असर डाला है। तापमान में आई तेजी का असर भी कीट- मकोड़ो और संक्रामक बीमारी को बढ़ा रहा है । जिले में इस वर्ष मक्के की फसल का रकबा बढ़ा है । लेकिन अवर्षा की स्थिति में मक्के की फसल -पत्तों पर आर्मीवर्म का प्रकोप बढ़ा है। लेकिन मानसून ट्रफ (द्रोणिका लाइन) के ग्वालियर के पास से गुजरने के कारण ग्वालियर, सागर, जबलपुर संभाग के क्षेत्र में कहीं-कहीं तेज बौछारें पड़ने की संभावना है। 26 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने के आसार हैं। उसके प्रभाव से प्रदेश में एक बार फिर मानसून सक्रिय होने की उम्मीद है। ज्ञात हो कि अभी तक प्रदेश में सामान्य से 13 फीसदी कम बरसात हुई है। उधर मंगलवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे के बीच सतना में 14 मिमी. और नौगांव में 0.2 मिमी. पानी गिरा।मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक वर्तमान में मानसून ट्रफ फलौदी, टोंक, ग्वालियर, बांदा, मिर्जापुर, पटना, पूर्णिया होते हुए नगालैंड तक जा रही है। इस सिस्टम के कारण ग्वालियर, सागर, जबलपुर संभाग में तेज बरसात के असार है।
और ख़बरें >

समाचार