महामीडिया न्यूज सर्विस
उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीशों की संख्या बढ़ाने को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीशों की संख्या बढ़ाने को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 37 दिन 9 घंटे पूर्व
11/08/2019
नई दिल्ली [ महामीडिया ] राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भारत के मुख्य न्यायाधीश के अलावा उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीशों की स्वीकृत शक्ति को 30 से बढ़ाकर 33 करने वाले बिल पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। सर्वोच्च न्यायालय  संशोधन विधेयक को इस सप्ताह की शुरुआत में ही संसद द्वारा पारित किया गया था। इस कानून के लागू होने के बाद सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम सरकार को शीर्ष अदालत में नियुक्ति के लिए तीन नामों का सुझाव देगा।सुप्रीम कोर्ट में अभी कोई भी पद खाली नहीं है। वर्तमान में मुख्य न्यायाधीश सहित 31 जज सुप्रीम कोर्ट में सेवाएं दे रहे हैं। इस कानून लागू होने के बाद CJI के अलावा सुप्रीम कोर्ट की स्वीकृत संख्या 33 हो जाएगी। शीर्ष अदालत में बढ़ते मामलों को देखते हुए न्यायाधीशों की संख्या को तीन या 10 प्रतिशत बढ़ाने का कदम ऐसे समय में उठाया गया है, जब कोर्ट में 60,000 से अधिक मामले लंबित हैं भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर शीर्ष अदालत में न्यायाधीशों की संख्या बढ़ाने का आग्रह किया था। इसके बाद यह फैसला आया है। कानून मंत्रालय ने राज्यसभा को दिए एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि 11 जुलाई को कोर्ट में 59,331 मामले लंबित हैं। सीजेआई ने कहा, न्यायाधीशों की कमी के कारण कानून के सवालों से जुड़े महत्वपूर्ण मामलों का फैसला करने के लिए संविधान पीठों की आवश्यक संख्या का गठन नहीं किया जा रहा था।

और ख़बरें >

समाचार