महामीडिया न्यूज सर्विस
राम भगवान के बारे में सुप्रीम कोर्ट में विचित्र तर्क -वितर्क

राम भगवान के बारे में सुप्रीम कोर्ट में विचित्र तर्क -वितर्क

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 35 दिन 9 घंटे पूर्व
14/08/2019
नई दिल्ली  [महामीडिया] सुप्रीम कोर्ट में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर सुनवाई जारी है । इस मामले की सुनवाई अब रोजाना हो रही है । सोमवार को ईद की वजह से अदालत नहीं खुली लेकिन मंगलवार को जब मामला सुना गया तो अदालत में कई तर्क सुनाई दिए । इसी दौरान अदालत ने रामलला के वकील से पूछा कि राम का जन्मस्थान कहां है ? जिस पर वकील एस. सी. वैद्यनाथन ने कहा कि बाबरी मस्जिद का जहां पर गुंबद था उसी के नीचे  । दरअसल, सुनवाई के दौरान जब SC ने वकील से पूछा कि रामलला का जन्मस्थान कहां है? इसी के जवाब में रामलला की तरफ से पेश हुए वकील वैद्यनाथन ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बाबरी मस्जिद के मुख्य गुंबद के नीचे वाले स्थान को भगवान राम का जन्मस्थान माना है । वकील ने कहा कि मुस्लिम पक्ष की तरफ से विवादित स्थल पर उनका मालिकाना हक साबित नहीं किया गया था हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि हिंदू जब भी पूजा करने की खुली छूट मांगते हैं तो विवाद होना शुरू होता है। गौरतलब है कि इससे पहले निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान की तरफ से पक्ष रखे गए थे. मंगलवार को ही रामलला के वकील एस. सी. वैद्यनाथन ने अपनी दलीलें शुरू की थी. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के एक पुराने फैसले का जिक्र करते हुए कहा था कि अदालत ने भी माना था कि मंदिर की पुष्टि के लिए मूर्ति का होना जरूरी नहीं है । 

और ख़बरें >

समाचार