महामीडिया न्यूज सर्विस
सिंगल यूज प्‍लास्टिक को अब अलविदा कहे दुनिया: पीएम मोदी

सिंगल यूज प्‍लास्टिक को अब अलविदा कहे दुनिया: पीएम मोदी

admin | पोस्ट किया गया 14 दिन 4 घंटे पूर्व
09/09/2019
 दिल्ली (महामीडिया)  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में चल रहे 12 दिवसीय कॉप -14 कॉन्‍फ्रेंस की बैठक संबोधित किया। उन्‍होंने कहा कि भारत में सदा से धरती को पवित्र स्‍थान दिया गया है।  भारतीय संस्‍कृति में भूमि को माता माना गया है। भारत के लोग सुबह सोकर उठने के बाद धरती को नमन करके दिन की शुरुआत करते हैं। भारत के लोग प्रात:काल धरती पर पैर रखने से पहले 'समुद्र वसने देवी पर्वतस्‍तन मंडले, विष्‍णु पत्‍नी नमस्‍तुभ्‍यम्, पाद स्‍पर्श क्षमस्‍वमे' की प्रार्थना करते हैं।  
प्रधानमंत्री ने कहा कि प्‍लास्टिक का कचरा भी मरुस्‍थलीकरण को बढ़ा रहा है। प्‍लास्टिक का कचरा न केवल स्‍वास्‍थ्‍य का प्रभावित कर रहा है, यह धरती की उर्वरता के लिए भी समस्‍याएं पैदा कर रहा है। हमारी सरकार ने घोषणा की है कि वह आने वाले कुछ वर्षों के भीतर सिंगल यूज प्‍लास्टिक का प्रचलन खत्‍म कर देगी। हम पर्यावरण अनुकूल विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम प्‍लास्टिक के कचरे के निस्‍तारण पर काम कर रहे हैं। हमें उम्‍मीद है कि आने वाले वक्‍त में हम सिंगल यूज प्‍लास्टिक को अलविदा कह देंगे। दुनिया के लिए भी सिंगल यूज प्लास्टिक को अलविदा कहने का समय आ गया है। पीएम मोदी ने कहा कि पर्यावरण और जलवायु, जैव विविधता एवं धरती दोनों को ही प्रभावित करते हैं। यह व्‍यापक रूप से स्‍वीकार किया जाता है कि दुनिया जलवायु परिवर्तन के गंभीर दुष्‍प्रभावों का सामना कर रही है। ये दुष्‍परिणाम भूमि के क्षरण के रूप में दिखाई दे रहा है। यही नहीं इससे जीवों की प्रजातियों पर भी संकट मंडराने लगा है। हम इन दुष्‍परिणामों को धरती का तापमान बढ़ने, समुद्र का जलस्‍तर बढ़ने और बाढ़, तूफान, भूस्‍खलन जैसी घटनाओं के तौर पर देख रहे हैं। आपको जानकर हैरानी होगी की दुनिया के दो तिहाई देश मरूस्‍थलीकरण जैसी गंभीर समस्‍या का समाना कर रहे हैं। 
और ख़बरें >

समाचार