महामीडिया न्यूज सर्विस
अंतरराष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस आज

अंतरराष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस आज

admin | पोस्ट किया गया 29 दिन 40 मिनट पूर्व
23/09/2019
भोपाल (महामीडिया) जो लोग सुन या बोल नहीं सकते उनके हाथों, चेहरे और शरीर के हाव-भाव से बातचीत की भाषा को सांकेतिक भाषा यानी Sign Language कहा जाता है। दूसरी भाषा की तरह सांकेतिक भाषा के भी अपने व्याकरण और नियम हैं। लेकिन यह लिखी नहीं जाती । अंतरराष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस को मनाए जाने का प्रस्ताव विश्व बधिर संघ ने रखा था। सांकेतिक भाषा के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 23 सितम्बर 2018 को सांकेतिक भाषा दिवस घोषित किया था। 2018 में ही पहली बार ही सांकेतिक भाषा दिवस मनाया गया। सांकेतिक भाषा के लिए विशेष दिन की घोषणा के साथ इससे जुड़ी सेवाओं को जल्द मूक-बधिर लोगों तक पहुंचाने पर भी जोर दिया गया।
विश्व बधिर फेडरेशन के अनुसार विश्व में लगभग 7 करोड़ 20 लाख बधिर हैं। इनमें से 80 प्रतिशत विकाशशील देशों में रहते हैं। ये अलग तरह की 300 सांकेतिक भाषा का इस्तेमाल करते हैं। जिन्हें सुनाई नहीं देता या सुनने की शक्ति कमजोर है उनके लिए सांकेतिक भाषा ही संचार का एकमात्र तरीका है।
और ख़बरें >

समाचार