महामीडिया न्यूज सर्विस
दुनिया ने देखी मोदी-ट्रंप की जुगलबंदी

दुनिया ने देखी मोदी-ट्रंप की जुगलबंदी

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 79 दिन 16 घंटे पूर्व
23/09/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में 50,000 लोगों को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ मिलकर संबोधित किया है। इस कार्यक्रम की छाप विदेशी मीडिया पर दिखाई दे रही है। अमेरिका और यूरोप की मीडिया ने मोदी-ट्रंप की इस जुगलबंदी को ऐतिहासिक बताया है। 
यूएसए टुडे ने लिखा कि अमेरिका के लोगों ने पहली बार किसी रैली में इतने लोगों को एकसाथ देखा है। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एकसाथ आए तो अमेरिका में रहने वाले भारतीय मोदी-मोदी के नारे लगाने लगे। जहां ट्रंप ने मोदी को वैश्विक स्तर का नेता बताया तो वहीं मोदी ने ट्रंप को अपना दोस्त कहा। इस मंच पर दोनों नेताओं ने ब्रोमांस (दो भाईयो का आपसी प्यार) दिखाया है।
वॉल स्ट्रीट जर्नल अखबार ने दोनों नेताओं के ह्यूस्टन में ऐतिहासिक संबोधन के घंटों बाद कहा, 'संयुक्त रूप से साथ आना भारत-अमेरिका के बीच बढ़ रहे रणनीतिक महत्व को रेखांकित करता है। दो बड़े लोकतांत्रिक देश एशिया-प्रशांत क्षेत्र में चीन के प्रभुत्व की महत्वाकांक्षा पर लगाम लगाने के लिए अहम है।' 
वाशिंगटन पोस्ट ने लिखा कि अमेरिका में देश की विदेश नीति को लेकर तनाव जारी है। जिसका कारण राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ईगो है। मगर इस बार ट्रंप ने ईगो को छोड़कर प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंच साझा किया। दोनों के एकदूसरे की खूब तारीफ की। मोदी ने मंच से यह भी कहा- अबकी बार ट्रंप सरकार। 
बीबीसी ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली को ऐतिहासिक बताया। हाउडी मोदी किसी विदेशी नेता का अमेरिका के इतिहास में सबसे बड़ा कार्यक्रम था। 90 मिनट के कार्यक्रम में 400 परफॉर्मर्स थे। जब मोदी ने ट्रंप को गले लगाया तो पूरा स्टेडियम तालियों से गूंज उठा। इस रैली से दोनों देशों को अपने-अपने देशों में बड़ा लाभ मिलेगा। 
और ख़बरें >

समाचार