महामीडिया न्यूज सर्विस
झाबुआ उपचुनाव से पहले कांग्रेस में बिखराव

झाबुआ उपचुनाव से पहले कांग्रेस में बिखराव

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 66 दिन 15 घंटे पूर्व
30/09/2019
भोपाल (महामीडिया) झाबुआ सीट जीतने से पहले ही कांग्रेस में बिखराव दिख रहा है। इस उपचुनाव में कांग्रेस ने अपने जिन सिपहसालारों को ज़िम्मेदारी दी है कि वह कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के करीबी हैं। ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया और उनकी ब्रिगेड को इस बार दूर रखा गया है। पार्टी की गुटबाज़ी कांग्रेस पर भारी भी पड़ सकती है.
गुटबाज़ी इस क़दर हावी है कि झाबुआ विधानसभा उपचुनाव की फिक्र भी नहीं है। झाबुआ सीट पर भूरिया के पर्चा दाखिल करने के दौरान भी सीएम कमलनाथ के साथ मंत्री बाला बच्चन, सुरेंद्र सिंह बघेल, हर्ष यादव, प्रियव्रत सिंह समेत कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के कई करीबी विधायक मौजूद रहे। लेकिन, न तो ज्योतिरादित्य सिंधिया और न ही उनका कोई समर्थक मंत्री यहां नज़र आया। 
झाबुआ में पार्टी ने जिन नेताओं को मैदान संभालने की ज़िम्मेदारी दी है, उनमें सिंधिया खेमा दूर तक नज़र नहीं आ रहा है। सिर्फ सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह गुट के नेताओं को प्रचार और व्यवस्था की कमान सौंपी गई है।
सबसे अहम जि़म्मेदारी दिग्विजय सिंह के करीबी और झाबुआ के प्रभारी मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल को सौंपी गई है। उनके साथ कमलनाथ खेमे के मंत्री बाला बच्चन को आदिवासियों को साधने की ज़िम्मेदारी दी गई है। 

और ख़बरें >

समाचार