महामीडिया न्यूज सर्विस
महाराष्ट्र में कणकवली सीट पर एक-दूसरे के खिलाफ प्रचार में उतरे फडणवीस और ठाकरे

महाराष्ट्र में कणकवली सीट पर एक-दूसरे के खिलाफ प्रचार में उतरे फडणवीस और ठाकरे

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 28 दिन 4 घंटे पूर्व
16/10/2019
नई दिल्‍ली[ महामीडिया ] महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में सबसे दिलचस्प लड़ाई कणकवली सीट पर देखने को मिल रही है । टिकट बंटवारे पर लंबी खींचतान के बाद अब प्रचार में भी कणकवली भारतीय जनता पार्टी और उसकी सहयोगी शिवसेना के बीच टकराव की वजह बन गई है।हालात ये हो गए हैं कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे यहां अलग-अलग उम्मीदवारों के लिए वोट की अपील कर रहे हैं मंगलवार को मुख्यमंत्री फडणवीस ने नितेश राणे के पक्ष में प्रचार किया और उनकी जीत का दावा किया।फडणवीस के इस रुख के बाद उद्धव ठाकरे ने भी अपना प्लान बदल दिया है।ठाकरे भी कणकवली में शिवसेना प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार में उतर रहे हैं।हालांकि, पहले उनका यहां जाने का प्लान नहीं था।इस पूरी सियासी तस्वीर के पीछे उद्धव ठाकरे और नितेश राणे के पिता नारायण राणे की पुरानी अदावत मानी जाती है।बाला साहब ठाकरे के वक्त में नारायण राणे शिवसेना का ही हिस्सा हुआ करते थे, लेकिन 2005 में वो शिवसेना से अलग हो गए और इसके बाद राणे ने उद्धव ठाकरे का खुलकर विरोध किया था. तब से ही दोनों नेताओं के बीच सियासी खींचतान चली आ रही है।दरअसल, कणकवली विधानसभा सीट से बीजेपी ने नारायण राणे के बेटे नितेश राणे को टिकट दिया है।बीजेपी की सहयोगी शिवसेना लगातार नितेश राणे के टिकट का विरोध कर रही थी, बावजूद इसके बीजेपी ने राणे को उतार दिया।बीजेपी के इस फैसले को शिवसेना ने स्वीकार नहीं किया और राणे के सामने अपना प्रत्याशी खड़ा कर दिया।यानी गठबंधन होने के बावजूद कणकवली सीट पर बीजेपी और शिवसेना के अपने-अपने प्रत्याशी अलग चुनाव लड़ रहे हैं ।

और ख़बरें >

समाचार