महामीडिया न्यूज सर्विस
महाराष्ट्र में महा राजनीतिक ड्रामा जारी

महाराष्ट्र में महा राजनीतिक ड्रामा जारी

admin | पोस्ट किया गया 16 दिन 13 घंटे पूर्व
31/10/2019
भोपाल (महामीडिया) चुनाव परिणामों के आने के एक सप्ताह के बाद भी, महाराष्ट्र में "सत्ता-भागीदारी को लेकर राजनीतिक ड्रामा जारी है। हाल ही हुई घटनाओं में, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने सहयोगी को सरकार में उच्चपद की पेशकश की है। सर्वसम्मति से नेता चुने जाने के बाद मुंबई में हुई अपनी पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक को सम्बोधित करते हुए उन्होंने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का विशेष रूप से उल्लेख किया जिससे लगता है कि मुख्यमंत्री के रूप में उनकी वापसी  हो सकती है।" फडणवीस ने कहा, "मैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूं।" फड़नवीस ने यह भी विश्वास जताया कि महायुति (महागठबंधन) ही राज्य में अगली सरकार बनाएगी।
इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह भाजपा के लिए एक बड़ी जीत थी क्योंकि 1995 के बाद से किसी भी पार्टी ने 75 से अधिक सीटें नहीं जीती थीं, लेकिन 2014 और 2019 में, भाजपा ने 100 से अधिक सीटें जीतीं। इसके अलावा, राज्य में सरकार बनाने के लिए वैकल्पिक फॉर्मूले के बारे में कई अफवाहें चल रही हैं। अगली महाराष्ट्र सरकार में सत्ता के बंटवारे को लेकर उठा-पटक बढ़ती ही जा रही है। क्योंकि देवेंद्र फडणवीस ने साफ़ किया कि भाजपा ने कभी भी शिवसेना के साथ सीएम की सीट को लेकर 50-50 का कोई वादा नहीं किया था। बजाय इसके शिवसेना ने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से सीएम की सीट को लेकर बराबर बंटवारे पर लिखित आश्वासन की मांग की थी। भाजपा के सूत्रों के अनुसार, इस साल लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन को औपचारिक रूप देने पर शिवसेना के साथ चर्चा और समझौता हुआ था पर सिर्फ "सत्ता के समान बटवारे का, मुख्यमंत्री के पद पर नहीं।"
जहां देवेंद्र फडणवीस पहले से ही खुद को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री कह चुके हैं, वहीं शिवसेना, उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को प्रोजेक्ट कर रही है, जिन्हें वर्ली विधानसभा सीट से पार्टी के लिए सीएम पद का चेहरा बनाया गया था । सीएम सीट के बंटवारे को लेकर चल रही खींचतान से बीजेपी-शिवसेना गठबंधन डूबती हुई नाव की तरह लग रहा है, ऐसे में सवाल उठ रहा  है कि क्या बीजेपी की सहयोगी शिवसेना कांग्रेस से साथ हाथ मिला सकती है?
कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने मंगलवार को कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना-बीजेपी की 50-50 हिस्सेदारी से  चल रही खींचतान के बीच, अगर शिवसेना की तरफ से कोई प्रस्ताव आता है तो पार्टी हाईकमान और सहयोगी दलों से चर्चा के बाद ही फैसला किया जाएगा। 
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने कहा कि अगर बीजेपी, महाराष्ट्र विधानसभा के पटल पर अपनी संख्या साबित करने में विफल रहती है तो ऐसी स्थिति में एक वैकल्पिक सरकार का गठन करने के बारे में विचार किया जा सकता  है।

-प्रभाकर पुरंदरे
और ख़बरें >

समाचार

MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in