महामीडिया न्यूज सर्विस
मप्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा जांच के घेरे में

मप्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा जांच के घेरे में

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 16 दिन 1 घंटे पूर्व
01/11/2019
इंदौर (महामीडिया) मप्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा और चयन प्रक्रिया पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। आयोग ने बीते वर्ष सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा में अनधिकृत रूप से 'जैमर' का उपयोग किया था। मामले पर केंद्रीय रक्षा सचिव कार्यालय ने भी आपत्ति ली है। अवर सचिव (सुरक्षा) ने प्रदेश के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर मामले पर रिपोर्ट मांगी है। एडीजी इंदौर ऑफिस से जांच रिपोर्ट एडीजी इंटेलीजेंस को भेजी गई है। इसमें साफ हुआ है कि संदिग्ध तरीके से आयोग ने कुछ खास परीक्षा कक्षों में अनधिकृत जैमर का उपयोग किया। साथ ही जांच के दौरान पुलिस को भी अधिकारियों ने गलत जानकारी देकर मामले को दबाने की पूरी कोशिश की।
मप्र लोक सेवा आयोग द्वारा बीते साल जून में आयोजित सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा पहले से ही विवादों में है। इस परीक्षा के विज्ञापन से लेकर परीक्षा आयोजित करवाने के बीच करीब 20 बार संशोधन किए गए। आयु सीमा, अनुभव के अंकों से लेकर चयन प्रक्रिया तक में बदलाव किया गया।
बीते साल चुनाव के ठीक पहले तुरत-फुरत में चयन सूची जारी कर दी गई। बाद में परीक्षा के परिणाम में भी संशोधन हुए। अब इस चयन प्रक्रिया में जैमर के नियमविरुद्ध उपयोग का नया विवाद जुड़ गया है। आयोग अब तक इस बात से इनकार कर रहा था कि उसने परीक्षा में जैमर लगाए थे लेकिन 30 अक्टूबर को सूचना के अधिकार में मिली जानकारी में साफ हो गया कि जैमर के मामले में आयोग की भूमिका संदिग्ध है। आयोग पुलिस और सरकार की जांच एजेंसियों से भी जानकारी छिपा रहा है।
और ख़बरें >

समाचार