महामीडिया न्यूज सर्विस
आज बाल दिवस है

आज बाल दिवस है

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 21 दिन 12 घंटे पूर्व
14/11/2019
भोपाल (महामीडिया) हर वर्ष 14 नवंबर को देशभर में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। 14 नवंबर को देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्म हुआ था। पंडित नेहरू को बच्चों से बहुत प्रेम था, इसी वजह से बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। 14 नवंबर को इसलिए हर वर्ष बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है ताकि बच्चों के लिए प्रेम और लगाव की क्या महत्ता है इसे समझा जा सके। पंडित नेहरू का मानना था कि लोग हमारे बारे में क्या सोचते हैं इससे कहीं ज्यादा मायने यह रखता है कि हम वास्तविक जीवन में क्या हैं।
पंडित नेहरू ने बच्चों के बार में कहा था कि आज के ये बच्चे कल के भारत का निर्माण करेंगे। हमारा देश भविष्य में कैसा होगा, यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम अपने बच्चों का लालन-पालन कैसे करते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री बच्चों की शिक्षा को खास महत्व देते थे। देश के जाने माने ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइसेंज यानि एम्स की स्थापना में भी पंडित नेहरू ने खास भूमिका निभाई थी। ना सिर्फ एम्स बल्कि इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट और नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की भी स्थापना का श्रेय पंडित नेहरू को जाता है।
दुनियाभर में बाल दिवस को 20 नवंबर को मनाया जाता है। भारत में बाल दिवस मनाने की शुरुआत 1956 में हुई थी। 1964 तक भारत में भी बाल दिवस 20 नवंबर को ही मनाया जाता था। लेकिन पंडित नेहरू के 1964 में निधन के बाद हर वर्ष 14 नवंबर को भारत में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। बता दें कि युनाइटेड नेसंश ने 20 नवंबर को बाल दिवस के रूप में घोषित किया था और कई देशों में आज भी 20 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है।
बाल दिवस मनाने की एक बड़ी वजह यह भी है ताकि इस दिन बच्चों की बेहतर शिक्षा सहित तमाम अहम फैसले बच्चों के उत्थान के लिए लिए जाएं। बता दें कि बाल दिवस के दिन बच्चों की बेहतरी के लिए बड़े फैसले लिए जाते हैं। बाल दिवस के मौके पर ही बाल मजदूरी पर रोक लगाने का कानून पास किया था और 14 साल से कम उम्र के बच्चों से काम करवाना कानून अपराध की श्रेणी में आ गया।
बाल दिवस की खासियत यह है कि इस दिन तमाम स्कूलों में इस दिन को हर्ष और उल्लास से मनाया जाता है। 

और ख़बरें >

समाचार