महामीडिया न्यूज सर्विस
न्यायिक नियुक्ति की प्रक्रिया पारदर्शी होनी चाहिए -जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़

न्यायिक नियुक्ति की प्रक्रिया पारदर्शी होनी चाहिए -जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 27 दिन 17 घंटे पूर्व
14/11/2019
नई दिल्ली[ महामीडिया ]  मुख्य न्यायाधीश के कार्यालय को आरटीआई एक्ट के दायरे में होने की घोषणा करने वाले संविधान पीठ के बहुमत के फैसले से सहमति जताते हुए अपनी अलग राय में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि उच्चतर न्यायपालिका में जजों की नियुक्ति के आधार को परिभाषित किया जाना चाहिए और इससे संबंधित सभी जानकारी सार्वजनिक पटल पर रखा जाए।उन्होंने कहा कि ऐसा करने से नियुक्ति प्रक्रिया में लोगों का विश्वास बढ़ेगा और फैसले लेने में न्यायपालिका एवं सरकार के सभी स्तरों पर उच्च स्तर की पारदर्शिता और जवाबदेही तय हो सकेगी।हाल के दिनों में सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम की कार्यवाही पर कई सवाल उठे हैं।न्यायिक नियुक्तियों को लेकर हमेशा एक रहस्य बना रहता है।यह लंबे समय से कहा जाता रहा है कि न्यायपालिका खुद को उसी पारदर्शिता के मानकों पर खरा नहीं रखती है जो वो अन्य संवैधानिक पदाधिकारियों से अपेक्षा करती है।
और ख़बरें >

समाचार