महामीडिया न्यूज सर्विस
"विश्व शांति" दिवस पर ब्रह्मचारी गिरीश जी द्वारा विश्व शांति की अपील

"विश्व शांति" दिवस पर ब्रह्मचारी गिरीश जी द्वारा विश्व शांति की अपील

admin | पोस्ट किया गया 792 दिन 2 घंटे पूर्व
21/09/2017
 भोपाल। महर्षि महेश योगी संस्थान द्वारा आज राजधानी में विश्वशांति दिवस का आयोजन किया गया, जिसमें महर्षि संस्था के प्रमुख ब्रह्मचारी गिरीश जी ने अपने एक संदेश में विश्व में ??भूतल पर स्वर्ग?? साकार करने की अपील की है। इस आयोजन में भोज मुक्त विश्व विद्यालय के कुलपति डाॅ. आर कान्हेरे, महर्षि महेश योगी वैदिक विश्व विद्यालय के कुलपति भुवनेश शर्मा, संस्था के सूचना एवं संचार विभाग के राष्ट्रीय महानिदेशक व्ही आर खरे उपस्थित थे। 
महर्षि विद्या मंदिर स्कूल रतनपुर में आयोजित इस कार्यक्रम में महर्षि विद्यामंदिर विद्यालय समूह के चेयरमेन ब्रह्मचारी गिरीश जी अपने संदेश में सभीजनों से अपील की कि हम सब अपनी शुद्ध चेतना को जाग्रत करें, उसे विकसित करें और सदैव आनंदित रहने का प्रयास करें। उन्होने कहा कि परम् पूज्य महर्षि महेश योगी जी हमें मार्गदर्शित कर गए हैं कि आनंदित व्यक्ति ही शांति की इकाई बन सकता है। और ऐसी ही कई इकाईंयां मिलकर आज देश और पूरे विश्व में शांति स्थापित कर सकती है। इसी मार्ग पर चलकर हम ??भूतल पर स्वर्ग?? की महर्षि जी कल्पना को साकार कर सकते हंै।  
इस अवसर पर कुलपति डाॅ कान्हेरे ने कहा कि विश्व में जिस तरह से अशांति फैल रही है, उसे भारत ही अपने वैदिक विधान से रोक सकता है। अशांति के बीच शांति का उपदेश जिस तरह अर्जुन को भगवान कृष्ण ने देकर धर्म की रक्षा की उसी तरह भारत आज वैश्विक महत्वकांक्षी कोलाहल के बीच शांति का संदेश दे विश्व गुरू बन सकता है। आज विश्व के शांति दूतों को याद करने का दिन है महर्षि महेश योगी जी ने जो विश्व समुदाय को शांति के लिए भावातीत ध्यान की पद्धति दी वह उनके तपोनिष्ठ शिष्य ब्रम्ह्राचारी गिरीश जी ने उसे आगे बढ़ाने का कार्य किया वह सराहनीय है। हम पूरी कोशिश करेंगे की यह पद्धति देश के हर स्कूल एवं विद्यालयों में पहुंचायी जा सके। डाॅ कान्हेरे ने महिलाओं को विश्व में शांति की पहल के लिए आगे आने एवं इच्छाओं पर नियंत्रण रख परिवार को संतुलित रखने की बात कही। 
इस अवसर पर डाॅ भुवनेश शर्मा ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि हम शांति एवं समृद्धि की देवी के स्थापना दिवस पर विश्व शांति दिवस मना रहे हैं। महर्षि जी की वैदिक तकनीक भावातीत ध्यान से हम आधुनिक तकनीक से उत्पन्न हो रही अशांति को काबू कर सकते हैं। इस कार्य को सफल बनाने हम सब को आगे आकर सामुहिक ध्यान एवं सिद्धि कार्यक्रम को हर स्कूल हर काॅलेज में पहुंचाने का प्रयास करना है। डाॅ शर्मा ने आगे कहा कि शांति का फार्मूला सिर्फ भारत के पास है। जनसंख्या की दृष्टि से अगर भारत के आधे नागरिक भी भावातीत ध्यान एवं ??योगिक उड़ान?? कार्यक्रम को करते हैं तो पूरे विश्व में शांति का संचार किया जा सकता है। 
कर्नल केपीएस कान्द्रा ने कहा कि खुद की संतुष्टि से ही विश्व में शांति स्थापित हो सकती है, इसलिए स्वयं में शांति स्थापित कर समाज में शांति स्थापना का प्रयास किया जाना चाहिए। संचार निदेश श्री खरे ने कहा कि आनंदित व्यक्ति ही शांति की स्थापना करता है। हमारा आज का संदेश यही है कि हम आनंदित होकर रहें और  खुद को विश्व नागरिक मानकर चलें। कार्यक्रम का संचालन सुनील ओकदे ने किया। आयोजन में महर्षि संस्थान के सभी अधिकारी- कर्मचारी और विद्यार्थी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में सहयोग महर्षि विद्या मंदिर समूह एवं महर्षि विश्व शांति आन्दोलन ने किया। 
                                                        योगेन्द्र पटेल - 9406960553

और ख़बरें >

समाचार

MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in