महामीडिया न्यूज सर्विस
बुरी शक्तियों से बचाने के लिए वरूण देव की पूजा

बुरी शक्तियों से बचाने के लिए वरूण देव की पूजा

admin | पोस्ट किया गया 608 दिन 14 घंटे पूर्व
19/03/2018
भोपाल (महामीडिया) झूलेलाल जयंती चैत्र माह में शुक्ल पक्ष की द्वितीया को मनाई जाती है। झूलेलाल जयंती सिंधी समाज का सबसे बड़ा पर्व है। झूलेलाल भगवान वरुण देव का अवतार रूप है। झूलेलाल उत्स्व चेटीचंड का पर्व सिंधी समाज वैदिक काल से मनाता आ रहा है। झूलेलाल के अन्य नाम हिन्दू धर्म में भगवान झूलेलाल के अन्य नाम उदेरोलाल, ललसाई, अमरपाल, जिन्दपीर, लालशाह आदि है। भगवान झूलेलाल को वेदों में वर्णित जल के देवता वरुण का अवतार माना जाता है। वेदों में वरुण देव को सागर के देवता सत्य के रक्षक और दिव्यदृष्टि वाले देव के रूप वर्णित किया गया है। समूचे विश्व में जहां-जहां सिंधी समाज के लोग हैं, वे पूरी श्रद्धा के साथ झूलेलाल जयंती मानते हैं। 
और ख़बरें >

समाचार