महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • इन्होंने सिखाया दुनिया को योग, बाबा रामदेव भी मानते हैं गुरू

    भोपाल (महामीडिया) योग का महत्व तो पूरी दुनिया जानती है, लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि आखिर किन लोगों ने योग को दुनिया के कोने कोने तक पहुंचाया. अगर आप सिर्फ बाबा रामदेव का ही नाम जानते हैं तो अब जाने योग के दूसरे गुरूओं के बारे में. तिरुमलाई कृष्णमचार्य को आधुनिक योग का पितामह कहा जाता है. उन्हें आयुर्वेद और योग दोनों का ज्ञान था. स्वामी >>और पढ़ें

  • मेथी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक


    भोपाल (महामीडिया) सर्दी के मौसम में बाजार में मेथी भी खूब दिखने लगी है। मेथी के पत्तों में आइरन, कैल्शियम, फास्फोरस तथा प्रोटीन, विटामिन K अत्यधिक मात्रा में पाया जाता है। मेथी आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। मेथी पेट के लिए काफी अच्छी होती है। अगर पेट ठीक रहे तो स्वास्थ्य भी ठीक रहता है और खूबसूरती भी बनी रहती है। मेथी &# >>और पढ़ें

  • अब बच्चों की आंखें नही होंगी कमज़ोर

    भोपाल (महामीडिया) आपके बच्चे अगर स्मार्टफोन या कम्प्यूटर पर घंटों समय बिताते हैं, गेम खेलते रहते हैं, वीडियो देखते हैं या फिर फोटोज़ ही स्लाइड करते रहते हैं तो उनकी आंखों की रोशनी कमजोर पड़ने की संभावना ज्यादा रहती है. मगर चिंता छोड़िए और उन्हें खेलने के लिए बाहर भेजिए. विशेषज्ञों का कहना है कि अगर बच्चे हर रोज कम से कम दो घंटे बाहर स >>और पढ़ें

  • इन फायदों को जानकर आप भी हो जाएंगे खजूर के दीवाने

    भोपाल (महामीडिया) RAJKUMAR SHARMA खजूर के पेड़ों की खेती सदियों से की जा रही है. खासतौर से मध्‍य पूर्व के देशों में तो खजूर हमेशा से भोजन का अहम हिस्‍सा रहा है. खजूर की खासियत यह है कि इसे आप फ्रेश भी खा सकते हैं और सुखाकर भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं. एक खजूर की लंबाई तीन से सात सेंटीमीटर तक हो सकती है. जहां पके हुए खजूर का रंग गहरे पीले और >>और पढ़ें

  • स्वास्थ्य का समाजशास्त्रीय दृष्टिकोण

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा  यद्यपि प्रतिरक्षण क्षमता विश्व भर में उल्लेखनीय रूप से बढ़ी है, उदाहरण के लिए 2000-2013 के बीच खसरे की घटना में 72 प्रतिशत की कमी आई है। वैष्विक स्तर पर 2000-2013 के बीच पांच वर्ष से कम उम्र में खसरे के कारण मृत्यु की घटनाएं 74 प्रतिशत कम हो गई। तीसरा, 1990 से 2013 के बीच प्रति लाख प्रसव में मातृ मृत्यु अनुप >>और पढ़ें

  • स्वास्थ्य का समाजशास्त्रीय अध्ययन

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा नतीजतन सहस्त्राब्दि विकास लक्ष्यों को संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देषों द्वारा घोषित किया गया जिसममें से निम्नलिखित निर्विवाद रूप से स्वास्थ्य से जुड़ते हैं-
    क. 1990 और 2015 के बीच भुखमरी के शिकार लोगों की संख्या को आधा करना।
    ख. 1990 और 2015 के बीच पांच वर्ष से कम उम्र में & >>और पढ़ें

  • जनजातियों के लिए स्वास्थ्य सेवायें

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा जनजातियों की आबादी के स्वास्थ्य सेवा संकेतकों में पिछले दशकों के दौरान यकीनन सुधार हुआ है। हालांकि सामान्य आबादी की तुलना में यह काफी खराब स्थिति में है। अनुसूचित जनजाति की आबादी के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा सबसे कमजोर कड़ी है। जरूरत है उनके लिए किसी भी नीति अथवा कार्यक्रम का सिद्धांत भì >>और पढ़ें

  • जनजातियों के लिए स्वास्थ्य का प्रबंध

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा लोगों को क्षमतावान बनाकर लंबे अर्से तक इस उत्तरदायित्व का बेहतर ढंग से निर्वहन हो सकेगा। दूसरे शब्दों में कहें, तो स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के स्थान पर स्वास्थ्य सेवा के लिए क्षमता निर्माण की नीति बनाई जानी चाहिए। यह सिद्धांत स्वास्थ्य सेवा के लिए क्षमता निर्माण की नीति बनाई जानी चाहिए।  >>और पढ़ें

  • पोषण और स्वास्थ्य

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा जीवन चक्र के दौरान पोषण की कमी से ही कुपोषण की रोकथाम की जा सकती है। अगर बच्चियां कुपोषण का शिकार होंगी तो अस्वस्थ शरीर के साथ किशोरावस्था में कदम रखेंगी। इसका उनके समूचे स्वास्थ्य पर असर होगा, विशेष रूप से जब वह कम उम्र में गर्भधारण करेंगी। जिन गर्भवती किशोरियों का शारीरिक विकास पह >>और पढ़ें

  • स्वास्थ्य एक महत्वपूर्ण वैश्विक परिदृश्य

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा यूएचसी का ज्यादा जोर किसी देश के सभी लोगों क लिए स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के उदृेश्य से सार्वजनिक, निजी और संयुक्त क्षेत्रों से धन प्राप्त करने पर होता है, जबकि सबका स्वास्थ्य की अवधारणा में सभी के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए सार्वजनिक वित्तपोषण की बात होती है। साथ ही, यूएचसी बी >>और पढ़ें

  • स्वास्थ्य पर खर्च जीडीपी का मात्र 1.5 प्रतिशत, अमेरिका में 17.43 प्रतिशत

    नई दिल्ली (महामीडिया)सरकार ने आज कहा कि स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र पर पिछले तीन वर्षों में देश की कुल जीडीपी की 1.2 प्रतिशत से लेकर 1.5 प्रतिशत तक की राशि खर्च की गई। लोकसभा में कुछ सदस्यों के प्रश्न के लिखित उत्तर में स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने पिछले तीन वर्षों में स्वास्थ्य पर खर्च का ब्यौरा पेश करते हुए यह जानकारी दीमंत्री की ओ >>और पढ़ें

  • स्वास्थ्य को लेकर मेरी चिंतायें

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा बड़े बच्चों, किशोंरो, वयस्क पुरुषों, गैर गर्भवती महिलाओं और बुजुर्गों को इससे बाहर रखा गया था। मात्र मृत्यु दर मे कमी पर विचार किया गया था, जबकि रुग्णता में कमी और विकलांगता एमडीजी के दायरे में नहीं थी। सबसे महत्वपूर्ण तौर पर, इन ऊर्ध्वाधर दृष्टिकोणों ने मजबूत स्वास्थ्य प्रणाली निर्ë >>और पढ़ें

  • सतत विकास के युग में मेरा स्वास्थ्य

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा सार्वजनिक स्वास्थ्य के प्रासंगिक क्षेत्रों पर सहस्राब्दि लक्ष्य ने सिर्फ उर्धवाधर दृष्टिकोणों को अपनाया। वहीं सतत् विकास लक्ष्य, स्वास्थ्य के प्रति जीवन का संदर्भगत अध्ययन करने का दृष्टिकोण अपनाकर और स्वास्थ्य इक्विटी को बढ़ावा देने और स्वास्थ्य देखभाल की लागत के खिलाफ वित्तीय सुरक्षा  >>और पढ़ें

  • डाक्टरों की लापरवाही से एक मरीज की मौत

    नरसिंहपुर [ MAHAMEDIA] जिला अस्पताल लाये गए एक मरीज की उपचार के पूर्व ही मौत हो जाने की वजह से मंगलवार को जमकर हंगामा बरपा। मृतक के परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया। उनका आरोप था कि डॉक्टरों ने मरीज की नब्ज तक नहीं देखी, उपचार में हुई लापरवाही के कारण ही यह घटना हुई इसलिए ड्यूटी डॉक्टर एवं स्टॉफ पर आपराधिक मामला दर्ज किया जाएघटना के संबंध >>और पढ़ें

  • स्वास्थ्य क्षेत्र की उपादेयता

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा स्वास्थ्य में हितधारक के रूप में और स्वास्थ्य संबंधी परिणामों के लिए जवाबदेह के रूप में इसकी भूमिका को सरकार आम तौर पर नजरअंदाज ही करती रही है। इसी का परिणाम है कि सहयोगी के रूप में कार्य नहीं होने के कारण उपचार की ऐसी व्यवस्था पनप आई है, जिसमें निजी खर्च अधिक होता है और निजी क्षेत्र से सुविधा भी ज् >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in