महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • पंजाब का पेरिस है कपूरथला

    भोपाल (महामीडिया) पंजाब के कपूरथला की तुलना अक्सर पेरिस से की जाती है क्‍योंकि यहां पर उत्‍कृष्‍ट वास्‍तुशिल्‍प के अनेक उदाहरण मौजूद हैं। पंजाब के पेरिस के रूप में प्रसिद्ध इस शहर की वास्तुकला में इंडो-सारसेन और फ्रांसीसी शैली की झलक मिलती है। जैसलमेर के भाटी राजपूत कबीले द्वारा 11वीं शताब्दी में स्थापित इस शहर पर कभी महान अहलूवालिया >>और पढ़ें

  • दुनिया के चुनिंदा पर्यटन स्थल की सूची में भारत के दो शहर शामिल

    नई दिल्ली (महामीडिया) ब्रिटिश मार्केटिंग रिसर्च कंपनी यूरोमॉनिटर इंटरनेशनल ने 2019 के दुनिया के 100 चुनिंदा पर्यटन स्थल की सूची जारी की है। टॉप 5 पर्यटन स्थल में हॉन्ग-कॉन्ग, बैंकॉक, लंदन, मकाउ और सिंगापुर हैं। लेकिन टॉप 20 में भारत के दो शहर शामिल हैं। दिल्ली 11वें और मुंबई 14वें पायदान है। खास बात है कि 2018 के मुकाबले 2019 में इन दोनों ही शहरों में विदेशी  >>और पढ़ें

  • त्रिलोकीनाथ मंदिर जहां दो धर्म के लोग एक साथ करते हैं पूजा

    भोपाल (महामीडिया) हिमाचल प्रदेश के लाहौल और स्पीति जिले में चंद्रभागा नदी के किनारे बसा हुआ छोटा सा कस्बा उदयपुर कई चीजों के लिए अलग और मशहूर है। साल में लगभग 6 महीने बर्फ से ढके रहने वाली इस जगह पर माइनस 25 डिग्री सेल्सियस तक तापमान चला जाता है। समुद्र तल से 2,742 मीटर की ऊंचाई पर बसे उदयपुर में सिर्फ गर्मियों के सीजन में ही बाहर के लोग पहुंच सकते & >>और पढ़ें

  • अध्‍यात्‍म में सराबोर होने के लिए करें देवघर की यात्रा

    रांची (महामीडिया) देवघर, झारखंड का एक रमणीय स्थल जहां पर अनेक हिंदू मंदिर और तीर्थस्थलों के दर्शन कर सकते हैं। कई बौद्ध मठों के खंडहरों से घिरा यह छोटा सा शहर 'बैद्यनाथ धाम' के नाम से प्रसिद्ध है। लगभग 833 फीट की औसत ऊंचाई पर स्थित देवघर कुछ सबसे शानदार वास्तुशिल्प मूर्तियों का घर है। इस शहर में हर साल लगभग 7 से 8 लाख श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं। इसी व& >>और पढ़ें

  • कार्तिक माह में उत्तराखंड के कार्तिक स्वामी मंदिर में होता है विशेष धार्मिक अनुष्ठान

    देहरादून (महामीडिया) कार्तिक महीने में कुमार कार्तिकेय ने तारकासुर का वध किया था। कार्तिकेय मुख्य रूप से दक्षिण भारत में पूजे जाने वाले भगवान हैं। कुमार कार्तिकेय का एक बेहद खूबसूरत मंदिर उत्तराखंड में भी है। इसके चारों तरफ बर्फ से ढकी हिमालय की चोटियां इसे अलौकिक स्वरुप प्रदान करती हैं। कार्तिक महीने में यहां दर्शन करने से हर तरह क >>और पढ़ें

  • उत्तराखंड के जंगलों में 12 साल बाद नीलकुरेंजी के फूलों ने अपनी आभा बिखेरी

    उत्‍तरकाशी (महामीडिया) सीमांत उत्तरकाशी और टिहरी जिले के जंगल इन दिनों नीलकुरेंजी के फूलों से लदे हुए हैं। ठीक 12 साल बाद गढ़वाल क्षेत्र के जंगलों में नीलकुरेंजी के फूलों ने अपनी रंगत बिखेरी है। सरकारी तंत्र की उपेक्षा के कारण नीलकुरेंजी केरल की तरह उत्तराखंड में प्रसिद्धि नहीं पा सका है। जबकि, पहाड़ में इस फूल को बेहद शुभ माना जाता है। & >>और पढ़ें

  • दीवाली बाद बंद होंगे केदारनाथ के साथ-साथ अन्य धामों के कपाट

    नई दिल्ली (महामीडिया) उच्च गढ़वाल हिमालयी क्षेत्र में स्थित भगवान शिव के धाम केदारनाथ मंदिर के कपाट छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद 9 मई को खोल दिए गए थे। पूरे 6 माह तक देश-विदेश के तीर्थयात्री दर्शन करने पहुंचे। लेकिन दीवाली के नजदीक आते ही एक बार फिर से बाबा केदारनाथ के साथ साथ बद्रीनाथ और अन्य धामों के कपाट बंद कर दिए जाएंगे।
    केदार& >>और पढ़ें

  • मानसूनी वार्षिक बंदी के बाद काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान फिर खुला

    गुवाहटी (महामीडिया) मानसून के मौसम में अपनी नियमित वार्षिक बंदी के बाद काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान को शनिवार को फिर से खोल दिया। यूनेस्को की विश्व धरोहर में शामिल यह जगह एक सींग वाले गैंडों का घर है। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की मौजूदगी में विशेष समारोह के दौरान बागोरी और कोहरा रेंज को पर्यटकों के लिए फिर से खोल दिया गया। बागí >>और पढ़ें

  • नवरात्रि में आध्यात्म और शांति के लिये इन जगहों की करें सैर

    नई दिल्ली (महामीडिया) नवरात्रि में व्रत रखने के साथ ही मां के दर्शन को भी बहुत ही शुभ माना जाता है। भक्त गण दूर-दूर से मां के मंदिर में माता टेकने और पूजा-अर्चना के लिए आते हैं। उनका मानना है कि मां नवरात्रि में अपने पीहर आती हैं और हर तरफ हर्षोउल्लास का माहौल होता है। ऐसे में दिल से मांगी गई हर मुराद पूरी होती है। आप नवरात्रि के इस अवसर को बना ì >>और पढ़ें

  • 3.43 लाख भक्‍तों ने बाबा बर्फानी के किये दर्शन

    श्रीनगर (महामीडिया) आतंकवादी हमले को देखते हुए पवित्र अमरनाथ यात्रा को रोक दिया गया है। श्रद्धालुओं और पर्यटकों को जल्द से जल्द कश्मीर छेाड़ने के निर्देश दिये गये हैं। अमरनाथ यात्रा 15 अगस्‍त को रक्षाबंधन के पर्व पर संपन्‍न होनी थी, लेकिन इसे 14 दिन पहले ही रोक दिया गया है। 1 जुलाई से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा के दौरान 2 अगस्‍त तक कुल 3.43 लाख भक्‍तो >>और पढ़ें

  • माता वैष्‍णो देवी यात्रा 4 अगस्‍त तक निलंबित

    जम्मू (महामीडिया) बारिश और भूस्खलन के चलते माता वैष्णो देवी यात्रा रोक दी गई है। माता वैष्‍णो देवी यात्रा के लिए बनाये गये नए ट्रैक को भूस्‍खलन की वजह से बंद कर दिया है। फिलहाल यात्रा को 4 अगस्‍त तक निलंबित किया गया है। इसके साथ ही कटरा से सांझीछत के लिए हेलीकॉप्‍टर सेवा भी रोक दी गई है। वहीं, राष्ट्रीय राजमार्ग-1 सी पर भी भूस्खलन और पत्‍थर ग&# >>और पढ़ें

  • अब तक 3 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किये बाबा बर्फानी के दर्शन

    जम्मू (महामीडिया) पवित्र अमरनाथ यात्रा का आज 30वां दिन है। जम्मू से आज 1,175 तीर्थयात्रियों का एक और जत्था अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना हुआ है। पिछले 29 दिनों में 3.20 लाख से ज्यादा श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं। अमरनाथ यात्रा का प्रबंधन करने वाले श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने कहा, "इस साल श्रीअमरनाथजी यात्रा के 29वें दिन 2,055 &# >>और पढ़ें

  • बाबा बर्फानी के दर्शन करने के लिये लगा श्रद्धालुओं का तांता

    जम्मू (महामीडिया) इस साल अमरनाथ यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं ने रिकार्ड तोड़ दिया है। अब तक पवित्र अमरनाथ बाबा के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 2.9 लाख को पार कर चुकी है। आज जम्मू स्थित भगवती नगर यात्री निवास से 2,723 यात्रियों का एक जत्था सुरक्षा सहित दो काफिलों में रवाना हुआ। इनमें से 1,247 यात्री बालटाल आधार शिविर जा रहे हैं जबकि 1,476 यात्रì >>और पढ़ें

  • कांवड़ यात्रा की तैयारियां जोरों पर

    नई दिल्ली (महामीडिया) 17 जुलाई से पवित्र श्रावण माह का शुभारंभ हो रहा है। जगह-जगह इसकी तैयारियां शुरू हो गई हैं। वहीं यह माह कांवड़ियों के लिए भी महत्वपूर्ण होता है। इसमें श्रध्दालुओं द्वारा कंधे पर गंगाजल लेकर भगवान शिव के ज्योतिर्लिंगों पर चढ़ाने की परंपरा है। कहा जाता है ऐसा करने पर यह भक्तों को भगवान शिव से जोड़ाता है। महादेव भक्त से >>और पढ़ें

  • अब तक 22 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने 'बाबा बर्फानी' के दर्शन किए

    जम्मू (महामीडिया) आज अमरनाथ यात्रा का चौथा दिन है। यह पवित्र यात्रा 1 जुलाई को आरंभ हुई थी। बीते तीन दिनों के दौरान 22 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने सफलतापूर्वक बाबा बर्फानी के दर्शन कर लिए हैं। इन श्रद्धालुओं को अब बालटाल और पहलगाम बेस कैंप के लिए रवाना कर दिया गया है। वापसी की यात्रा के दौरान, श्रद्धालुओं की मदद के लिए अर्धसैनिक बलों के जवा >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in