महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • 'वेद' प्रकाश पुंज

    भोपाल (महामीडिया) 'वेद' वह आकाश पुंज है जो हमारे जीवन को प्रकाशित कर हमारा मार्गदर्शन करते हैं। यह शुद्ध ज्ञान सनातन है। आधुनिक शिक्षा का ज्ञान व्यक्ति व समाज की चेतना से लुप्त हो सकता है किंतु वैदिक-ज्ञान प्रकृति में समाहित है जिसे हम अपनी चेतना को जागृत कर प्राप्त कर सकते हैं। जब मानव ने जन्म लिया तब भी उसकी चेतना जागृत थी तभी तो उसे जब भू >>और पढ़ें

  • सोशल मीडिया ने अफवाहों को पंख दिये

    भोपाल (महामीडिया) सोशल मीडिया हब बनाने के केंद्र सरकार के प्रस्ताव ने विपक्ष को विचलित कर दिया है। सर्वोच्च न्यायाल ने इसी तरह की एक यात्रिका विचार के लिए स्वीकृति करते हुए यह कहकर कि सरकार की मंशा निगरानी राज स्थापित करने की लगती है। इसे बहस का मुद्दा बना दिया है। लोकतंत्र में विरोध और बहस से ही जनतंत्र सशक्त और परिपक्व होता है। दरअसल स& >>और पढ़ें

  • आशीर्वाद के अधिकारी मुख्यमंत्री शिवराज

    भोपाल (महामीडिया) "कई बार तो लगता है कि शिवराज दिनभर परिश्रम करने के बाद रात में सोते हैं या नहीं! यदि सोते भी हैं तो शायद उनके सपने में जन कल्याण की योजनाएं ही चलती रहती हैं। तभी तो सवेरे जागते ही एक नए प्रकार के जन कल्याण के साथ प्रदेश के सामने प्रस्तुत होते हैं। राजनीतिक विरोधाभास के लिए कोई भी टीका-टिप्पणी कर सकता है, लेकिन कभी एकांत में बा >>और पढ़ें

  • समर्थन मूल्य में ऐतिहासिक वृद्धि

    भोपाल (महामीडिया) एक समय था जब किसान को उम्मीद थी कि जमीदारी के शोषण से छुटकारा मिलेगा। जमीदारी उनमूलन से छुटकारा तो मिल गया लेकिन पूर्ववर्ती सरकारों ने किसान की फसल के उत्पादन पर जबरिया लेव्ही लगा दी और लेव्ही न देने वाले किसान को दंड का भागी घोषित कर दिया। किसान इस तरह नजराना देने के लिए विवश रहा। समय परिवर्तनशील है। सरकार ने फसल का समर >>और पढ़ें

  • कर्म का प्रतिफल

    भोपाल (महामीडिया) एक तपस्वी सन्त थे। जिनकी त्याग, तपस्या व चर्या को देखकर न मात्र उनके शिष्य वरन उनके सम्पर्क में आने वाले अन्य व्यक्ति भी उनके गुणों की महिमा का वर्णन करते नहीं थकते। सैकड़ों की संख्या में शिष्य वाले उन गुरू के शिष्य एक दिन बैठकर आपस में चर्चा कर रहे थे कि एक व्यक्ति जो देखने में दरिद्र दिखाई दे रहा था वहाँ आकर गिड़गिड़ाने लगì >>और पढ़ें

  • किसान की बदलती जिन्दगी की सफल गाथाएं चौपाल पर गूंजेगी

    भोपाल (महामीडिया) कृषि प्रधान भारत में खेती एक साँस्कृतिक कर्मकांड के रूप निर्विकार रूप से आत्मसात किया गया। डिवीजन आफ लेवर की परिपाटी प्रचालित होते हुए भी खेती सबके लिए आजीविका का साधन बना तो जनपदीय अंचल में कहावत प्रचलित हुई। "उत्तम खेती मध्यमवान अधम चाकी, भीख निदान" खेती को उत्कृष्ट व्यवसाय माने जाने लगा और किसानों की सामाजिक प्रतì >>और पढ़ें

  • अपने मकसद से भटक चुकी है संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद


     भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा दुनिया भर में मानवाधिकारों की रक्षा करने के मकसद से जब साल 2006 में संयुक्त राष्ट्र ने मानवाधिकार की स्थापना की तब उसे भी शायद यह अहसास नहीं रहा होगा कि कुछ ही समय में यह संस्था विवादों में घिर जाएगी। स्विट्जरलैंड के जेनेवा शहर में स्थित इस परिषद का मुख्य काम मानवाधिकार को प्रोत्साहित करना है, परंतु >>और पढ़ें

  • न्यायसंगत, सम्मान जनक आय किसान की दरकार

    भोपाल (महामीडिया) कृषि प्रधान भारत में खेती एक साँस्कृतिक कर्मकांड के रूप निर्विकार रूप से आत्मसात किया गया। डिवीजन आफ लेवर की परिपाटी प्रचालित होते हुए भी खेती सबके लिए आजीविका का साधन बना तो जनपदीय अंचल में कहावत प्रचलित हुई। "उत्तम खेती मध्यमवान अधम चाकी, भीख निदान" खेती को उत्कृष्ट व्यवसाय माने जाने लगा और किसानों की सामाजिक प्रतì >>और पढ़ें

  • 2030 के बाद भारत नहीं कहलाएगा गरीबों का देश

    भोपाल (राजकुमार शर्मा)  एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है कि अब भारत दुनिया की सबसे बड़ी गरीब आबादी वाला देश नहीं रहा है। अध्ययन के मुताबिक हर मिनट 44 भारतीय अत्यंत गरीबी की श्रेणी से बाहर निकलते जा रहा हैं।इसके तहत भारत का अत्यंत गरीब आबादी वाला तमगा अब मई 2018 से नाइजीरिया ने हासिल कर लिया है। भारत में बहुत तेजी से गरीबी घ >>और पढ़ें

  • योग और लक्ष्य

    भोपाल (महामीडिया) योग अर्थात मिलन, दार्शनिक दृष्टि से आत्मा का परमात्मा से मिलन ही योग है। अतः योग वह माध्यम है जो हमें परमात्मा से साक्षात्कार कराता है। उस परमपिता परमेश्वर तक पहुंचने का माध्यम योग है। तो, योग को समझने का प्रयास ही योगी होने की प्रथम सीढ़ी है जब हम अपने अज्ञान को ज्ञान से मिटा देते है तो वह योग है। जिस प्रकार ब्रह्माण्ड से  >>और पढ़ें

  • लोक प्रशासन में एक नये युग का सूत्रपात

    भोपाल (महामीडिया) पूरी दुनिया में अमेरिकी माडल को अपनाते हुए भारत सरकार ने प्रशासनिक सेवाओं में लेटरल एंट्री को मान्यता दे दी। यह भारत में लोक प्रशासन के एक नये युग का सूत्रपात है। देश में बड़े लंबे समय से लोक प्रशासन के विषय विशेषज्ञों द्वारा इस मांग को दुहराया जा रहा था। मेरा स्पष्ट मानना है कि लोक प्रशासन में जिस तरह सामान्यज्ञ एवं & >>और पढ़ें

  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को

    बिना किसी समस्या के जीवन भर तंदरुस्त रहने का सबसे अच्छा, सुरक्षित, आसान और स्वस्थ तरीका योग है। इसके लिए केवल शरीर के क्रियाकलापों और श्वास लेने के सही तरीकों का नियमित अभ्यास करने की आवश्यकता है। यह शरीर के तीन मुख्य तत्वों; शरीर, मस्तिष्क और आत्मा के बीच संपर्क को नियमित करना है। यह शरीर के सभी अंगों के कार्यकलाप को नियमित करता है और कुछ >>और पढ़ें

  • शिमला में भीषण जल संकट के मायने

    शिमला देश और विदेश के सैलानियों का ग्रीष्म़ ऋतु में सैरगाह हुआ करता है। सफेद बर्फ की चादर से ढके रहने एवं ग्रीष्म ऋतु में मौसम में ठंडक एवं सुहावना होने के कारण भारत देश का एक प्रमुख स्थल है। लेकिन अचानक आऐ मौसम के बदलाव में आजकल शिमला को भीषण जल संकट का सामना करना पड़ रहा है। पीने के पानी की लंबी-लंबी कतारें मानो शिमला की जीवनचर्या ही & >>और पढ़ें

  • किसान संकट में आंदोलन की नहीं समाधान की दरकार

    भोपाल (महामीडिया) भारतीय समाज में कुछ श्रेष्ठ परम्पराएं रही है। कहते हैं कि यज्ञोपवीत के तीन धागे देखकर देवराज इन्द्र ऐरावत हाथी से उतर कर विप्रदेव को प्रणाम करते थे। बदलते परिवेश में आज सामाजिक प्राथमिकताओं में विप्र देव कहां पर है यह कुछ दिनों से समाज को आंदोलित कर रहा है। इसी तरह अन्नदाता किसान ने समाज के संगोपन का जो दायित्व संभाल >>और पढ़ें

  • किसान सरोकार शीर्ष पर सियासत के राडार पर

    भोपाल (महामीडिया) भारत कृषि प्रधान देश है। आर्थिक उदारीकरण में खाद्यान्न को भले ही कमोडिटी मान लिया गया हो लेकिन देश के जनपदीय अंचल में अन्न को दैवीय वरदान माना गया है। अन्न उत्पादक किसानों को अन्नदाता के रूप में सामाजिक सुरक्षा के लिहाज से देश ने हरित क्रांति की कई मंजिले तय कर देश को आत्मनिर्भर तो बना दिया लेकिन कृषि पर दबाव बढ़ने से कृ& >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in