महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • 2030 के बाद भारत नहीं कहलाएगा गरीबों का देश

    भोपाल (राजकुमार शर्मा)  एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है कि अब भारत दुनिया की सबसे बड़ी गरीब आबादी वाला देश नहीं रहा है। अध्ययन के मुताबिक हर मिनट 44 भारतीय अत्यंत गरीबी की श्रेणी से बाहर निकलते जा रहा हैं।इसके तहत भारत का अत्यंत गरीब आबादी वाला तमगा अब मई 2018 से नाइजीरिया ने हासिल कर लिया है। भारत में बहुत तेजी से गरीबी घ >>और पढ़ें

  • योग और लक्ष्य

    भोपाल (महामीडिया) योग अर्थात मिलन, दार्शनिक दृष्टि से आत्मा का परमात्मा से मिलन ही योग है। अतः योग वह माध्यम है जो हमें परमात्मा से साक्षात्कार कराता है। उस परमपिता परमेश्वर तक पहुंचने का माध्यम योग है। तो, योग को समझने का प्रयास ही योगी होने की प्रथम सीढ़ी है जब हम अपने अज्ञान को ज्ञान से मिटा देते है तो वह योग है। जिस प्रकार ब्रह्माण्ड से  >>और पढ़ें

  • लोक प्रशासन में एक नये युग का सूत्रपात

    भोपाल (महामीडिया) पूरी दुनिया में अमेरिकी माडल को अपनाते हुए भारत सरकार ने प्रशासनिक सेवाओं में लेटरल एंट्री को मान्यता दे दी। यह भारत में लोक प्रशासन के एक नये युग का सूत्रपात है। देश में बड़े लंबे समय से लोक प्रशासन के विषय विशेषज्ञों द्वारा इस मांग को दुहराया जा रहा था। मेरा स्पष्ट मानना है कि लोक प्रशासन में जिस तरह सामान्यज्ञ एवं & >>और पढ़ें

  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को

    बिना किसी समस्या के जीवन भर तंदरुस्त रहने का सबसे अच्छा, सुरक्षित, आसान और स्वस्थ तरीका योग है। इसके लिए केवल शरीर के क्रियाकलापों और श्वास लेने के सही तरीकों का नियमित अभ्यास करने की आवश्यकता है। यह शरीर के तीन मुख्य तत्वों; शरीर, मस्तिष्क और आत्मा के बीच संपर्क को नियमित करना है। यह शरीर के सभी अंगों के कार्यकलाप को नियमित करता है और कुछ >>और पढ़ें

  • शिमला में भीषण जल संकट के मायने

    शिमला देश और विदेश के सैलानियों का ग्रीष्म़ ऋतु में सैरगाह हुआ करता है। सफेद बर्फ की चादर से ढके रहने एवं ग्रीष्म ऋतु में मौसम में ठंडक एवं सुहावना होने के कारण भारत देश का एक प्रमुख स्थल है। लेकिन अचानक आऐ मौसम के बदलाव में आजकल शिमला को भीषण जल संकट का सामना करना पड़ रहा है। पीने के पानी की लंबी-लंबी कतारें मानो शिमला की जीवनचर्या ही & >>और पढ़ें

  • किसान संकट में आंदोलन की नहीं समाधान की दरकार

    भोपाल (महामीडिया) भारतीय समाज में कुछ श्रेष्ठ परम्पराएं रही है। कहते हैं कि यज्ञोपवीत के तीन धागे देखकर देवराज इन्द्र ऐरावत हाथी से उतर कर विप्रदेव को प्रणाम करते थे। बदलते परिवेश में आज सामाजिक प्राथमिकताओं में विप्र देव कहां पर है यह कुछ दिनों से समाज को आंदोलित कर रहा है। इसी तरह अन्नदाता किसान ने समाज के संगोपन का जो दायित्व संभाल >>और पढ़ें

  • किसान सरोकार शीर्ष पर सियासत के राडार पर

    भोपाल (महामीडिया) भारत कृषि प्रधान देश है। आर्थिक उदारीकरण में खाद्यान्न को भले ही कमोडिटी मान लिया गया हो लेकिन देश के जनपदीय अंचल में अन्न को दैवीय वरदान माना गया है। अन्न उत्पादक किसानों को अन्नदाता के रूप में सामाजिक सुरक्षा के लिहाज से देश ने हरित क्रांति की कई मंजिले तय कर देश को आत्मनिर्भर तो बना दिया लेकिन कृषि पर दबाव बढ़ने से कृ& >>और पढ़ें

  • योग, आनंद का आधार

    भोपाल (महामीडिया) यह हर्ष का विषय है कि आज सम्पूर्ण विश्व का भ्रमण करते हुए अपनी शक्ति व सामर्थ्य का आभास कराकर भारतीय योग "योगा" के रुप में घर वापस आ गया है किंतु अभी भी यह अधूरा है क्योंकि योग मात्र शारीरिक व्यायाम नहीं है। इसके 8 चरण है जैसे यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान और समाधि। जैसा कि स्पष्ट है कि योग का शाब्दिक अर्थ है &# >>और पढ़ें

  • विपक्ष की एकजुटता से हारी भाजपा

    भोपाल (महामीडिया) देश में उपचुनावों का परिणाम कोई करिश्माई परिणाम नहीं बल्कि सामान्य परिणाम रहा। विपक्ष के एकजुट होने से वोटों का वितरण रूका जिसका परिणाम विपक्ष की जीत के रूप में सामने आया। उत्तरप्रदेश के कैराना लोकसभा में जिस तरह विपक्ष ने भाजपा की घेराबंदी की थी उससे स्पष्ट हो चला था कि विपक्षी मतों का ध्रुवीकरण भाजपा को रोक देगा औë >>और पढ़ें

  • देश में भीषण गर्मी

    भोपाल (महामीडिया) मध्यप्रदेश सहित संपूर्ण भारत में भीषण गर्मी का कहर जारी है। नौतपा प्रारंभ होने के चौथे दिन भी सूरज सुबह से ही आग उगल रहा है। कमोवेश संपूर्ण भारत में अपवाद राज्यों को छोड़ दें तो ऐसी विकट स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। उत्तर भारत में यह स्थिति और भी भयावह है। संपूर्ण मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत् >>और पढ़ें

  • बेटियों ने फिर लहराया परचम

    भोपाल (महामीडिया) केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के बारहवीं के परीक्षा परिणाम अपेक्षा के अनुरूप रहे। अस्सी फीसदी बच्चों को सफलता हासिल हुई। वहीं जोनवार विश्लेषण किया जाए तो हमेशा की तरह औसत परिणाम उत्साह बढ़ाने वाला रहा। जहां तक बेटियों के बारे में देखा जाए तो एक बार फिर उन्होंने पूरे देश में बाजी मार ली है। बच्चों की अपेक्षा बेटियों >>और पढ़ें

  • आनंदित रहना ही जीवन है

    भोपाल (महामीडिया) वर्तमान आधुनिक समय में हम इतने अधिक व्यस्त हो गये हैं कि आनन्द को ही भूल गये हैं। आनन्द क्या है, उसे कैसे, कहां से प्राप्त किया जा सकता है। यह समस्त व्यस्तता और भागदौड़ हम आनन्द की प्राप्ति के लिये ही तो कर रहे हैं परंतु आनंद प्राप्ति संघर्ष ने संभवत: हमें इतना क्षीण कर दिया है कि हमें आनंद के स्थान पर अवसाद प्राप्त हो रहा है।< >>और पढ़ें

  • प्रकृति और जीवन

    भोपाल (महामीडिया) प्रकृति एक मात्र शब्द नहीं है जब हम लिखते या पड़ते हैं तो हमारे मस्तिष्क में सम्पूर्ण शक्तियों, परिस्थितियों और वस्तुओं को एक परस्पर जुड़ाव की अनुभूति होती है। हमारे चारों ओर का परिवेश जिससे हम जीवित है वही विराट प्राकृतिक परिवेश ही प्रकृति है। ये अत्यंत शक्तिशाली एवं अत्यधिक संवेदनशील है। अत: हमारे ऋषि मुनियों, सतों ê >>और पढ़ें

  • भावातीत ध्यान और विश्राम के स्तर

    भोपाल (महामीडिया) भावातीत ध्यान से साधक को स्वाभाविक रूप से स्वत: गहन विश्राम मिलता है यह अध्ययन डॉ. कीथ वालेस के प्रथम अध्ययन को पुष्ट करता है। इस अध्ययन में साधक की चयापचय गति (मेटाबोलिक रेट) निकालने के लिए साधक में आॅक्सीजन खपत की माप ध्यान पूर्व, ध्यान के समय तथा ध्यान के पश्चात् लिया गया। इन साधकों की औसत आयु 31 वर्ष थी और यह लोग लगभग 26 महीन >>और पढ़ें

  • आज्ञा पालन और चेतना

    भोपाल (महामीडिया)भारतीय संस्कृति प्रेरणाओं कि अविरल धारा है और समय-समय पर इस धारा को अनेक महापुरुषों ने अपने प्रेरणा दायक जीवन को इसमें समाहित होकर इसका मान बढ़ाया है। 
    भारतीय संस्कृति में आज्ञा पालन का विशेष महत्व है, आज हम हमारी सनातन परम्परा के तीन मुख्य आज्ञापालक पुत्रों राजा शांतनु पुत्र 'भीष्म', राजा ययाति पुत्र 'पुरु' एवं र >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in