महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • लालू गये जेल

    भोपाल (महामीडिया) धर्मेन्द्र सिंह ठाकुर आखिरकार बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले में लालू प्रसाद यादव दोषी करार दे दिए गए। लालू को तुरंत जेल पहुंचा दिया गया। सजा कितनी होगी इसका फैसला कोर्ट तीन जनवरी को करेगा। इस घोटाले में कुछ आरोपी बच गए तो कहीं अधिक बच नहीं पाए। यह  बिहार प्रान्त का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार घोटाला था जिसमें पशुओं >>और पढ़ें

  • भाजपा ने दो चांद और लगाए

    भोपाल [महामीडिया] धमेन्द्र सिंह ठाकुर - गुजरात और हिमाचल प्रदेश के बहुचर्चित विधान सभा चुनाव जीत कर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी प्रतिष्ठा में दो चांद और लगा लिए है। दोनों ही जगह भाजना ने चिर प्रतिद्वन्दी कांग्रेस पार्टी को हराया। गुजरात में तो भाजपा की पूर्व में दरकार की जबकि हिमाचल प्रदेश में वह कांग्रेस के राज्य छीन कर स्वयं बहुमत के आधा >>और पढ़ें

  • योग जीवनसत्ता के मूल में पहुंचने का माध्यम है

    भोपाल (महामीडिया) 
    तपस्विभ्योऽधिको योगी
    ज्ञानिभ्योऽपि मतोऽधिकः
    कर्मिभ्यश्चाधिको योगी
    तस्माद्योगी भवार्जुन ॥
    उक्त श्लोक का अर्थ हैः तपस्वियों, ज्ञानियों और सकाम कर्मियों से भी श्रेष्ठ है योगी। अतः हे अर्जुन तुम योगी हो। सहस्राब्दियों पूर्व योगिराज श्रीकृष्ण और तत्कालीन सर्वश्रे >>और पढ़ें

  • भावातीत ध्यान के द्वारा आनंद चेतना करती है कायाकल्प

    भोपाल (महामीडिया)  क्या हम अपना जीवन ज्ञान यज्ञ और प्रेमयज्ञ की दोनों विधियों से नहीं जी सकते? ब्रह्म से दुःखों की निवृत्ति नहीं होती, ब्रह्मानुभूति से अवश्य हो जाती है। इसी प्रकार कर्म तो श्वास-प्रतिश्वास में है किंतु गीता में भगवान कृष्ण कहते हैं सहजं कर्मकौन्तेय। फिर रामचरितमानस में वही बात प्रकारान्तर से सिक्के के दूसरे पह& >>और पढ़ें

  • भावातीत ध्यान के द्वारा आनंद चेतना करती है कायाकल्प

    क्या हम अपना जीवन ज्ञान यज्ञ और प्रेमयज्ञ की दोनों विधियों से नहीं जी सकतेब्रह्म से दुःखों की निवृत्ति नहीं होतीब्रह्मानुभूति से अवश्य हो जाती है। इसी प्रकार कर्म तो श्वास-प्रतिश्वास में है किंतु गीता में भगवान कृष्ण कहते हैं सहजं कर्मकौन्तेय। फिर रामचरितमानस में वही बात प >>और पढ़ें

  • आनंदमय चेतना है जीवनसत्ता का स्वभाव

    भोपाल (महामीडिया) यह ब्रह्मांड अनंत है। परिवर्तन इसका सतत् नियम है। जीवन और मृत्यु तो इसके छोटे से अंग है। किन्तु जो अमर है, परम है, सनातन है वह है जीवनसत्ता। यक्ष प्रश्न है कि यह जीवनसत्ता क्या है? वस्तुतः इसे जानना एक कला है। एक विज्ञान है। क्या जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में जीने का ढंग ऐसा नहीं हो सकता कि उससे व्यक्ति के साथ-साथ बî >>और पढ़ें

  • छठ पूजा का बढ़ता रूप

    भोपाल (महामीडिया) धर्मेन्द्र सिंह ठाकुर महापर्व छठ पूजा की धूम मंगलवार से आरंभ हो रही है। कुछ सालों पूर्व तक छठ पूजा का महत्व बिहार और उत्तरप्रदेश तक सीमित था लेकिन अब यह त्यौहार पूरे देशभर में बढ़ी धूमधाम के साथ मनाया जाने लगा है। विधि विधान से मनाया जाने वाले इस त्यौहार की सबसे बड़ी विशेषता उभर कर सामने आई है  >>और पढ़ें

  • किसानों को जल्दी मिले फसल बीमा

    भोपाल (महामीडिया) मध्यप्रदेश में फसल बीमा को लेकर विवाद की स्थिति बनी है. अधिकांश किसानों को बीमा की आधी अथवा उससे कम राशि का वितरण हुआ है. मुख्यमंत्री तक शिकायत पहुंची, उन्होंने कार्यवाही का आश्वासन दिया लेकिन हफ्तों बीत जाने के बाद भी अभी तक इस मसले पर कोई अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है.
    उल्लेखनीय है कि पिछले दो वर्षों &# >>और पढ़ें

  • मुहर्रम-बकरीद पर बैन लगाने की हिम्मत क्यों नहीं -चेतन भगत

    नई दिल्ली (महामीडिया) दिवाली के मौके पर पटाखों के कारण होने वाले प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 1 नवंबर तक के लिए दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी है. इस फैसले का कुछ लोगों ने स्वागत किया है तो कई इससे निराश भी हुए हैं.सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर लेखक चेतन भगत ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. चेतन भगत सुप्रीम कोर्ट के फै >>और पढ़ें

  • असली बनाम नकली बाबा

    कौन व्यक्ति या बाबा या संत या साधु या महात्मा या ऋषि या मुनि वास्तविक है, सच्चा है और कौन नकली है, ढोंगी है यह कहना अत्यन्त कठिन है। अभी तक आधुनिक विज्ञान कोई यन्त्र तैयार नहीं कर सका जो मनुष्य की चेतना और मस्तिष्क को पूर्णतः नाप ले। शायद मानव चेतना ही मानव के मन और मस्तिष्क को नापने में पूर्णतः सक्षम है। बड़ी विचित्र बात है कि अत्यन्त साधारण पार >>और पढ़ें

  • योग और जीवन लक्ष्य

    योग अर्थात मिलन, दार्शनिक दृष्टि से आत्मा का परमात्मा से मिलन ही योग है। अत: योग वह माध्यम है जो हमें परमात्मा से साक्षात्कार कराता है। उस परमपिता परमेश्वर तक पहुंचने का माध्यम योग है। योग को समझने का प्रयास ही योगी होने की प्रथम सीढ़ी है जब हम अपने अज्ञान को ज्ञान से मिटा देते है तो वह योग है। जब हम अपने ??मैं??की कमी को ??हम?? से पूरी कर ल >>और पढ़ें

  • उत्थित-एकपादासन

    विधि-सर्वप्रथम पीठ के बल आराम के साथ चेतन आसन की तरह भूमि पर लेट जाते हैं। फिर दायें पैर को धीरे-धीरे ऊपर उठाते हैं तथा पैर बिना मोड़े हुए सीधा रखते हैं। लगभग 70 (अंश) से 90 (अंश) तक लाकर 10 सेकेण्ड रुकते हैं फिर धीरे-धीरे पैर को जमीन पर आराम से वापस रखते हैं। ठीक इसी प्रकार बायें पैर को धीरे-धीरे ऊपर की ओर आराम से उठाते हैं। पैर को सीधा रखते हुए 10 सेकण्ड तक रुक >>और पढ़ें

  • पादसंचलन आसन

    विधि-सर्वप्रथम हम चेतन आसन की स्थिति में पीठ के बल पर लेट जाते हैं। हथेली कमर के बराबर में ऊपर की ओर खुली हुई रखते हैं। दोनों पैरों के पंजे मिलाकर रखते हैं। फिर एक पैर के घुटने को मोड़कर सीने की ओर ले आते हैं ठीक उसी प्रकार जैसे सायकिल चलाते समय करते हैं। इसके बाद पहला पैर सीधा करके दूसरे पैर का घुटना मोड़कर सीने तक लाते हैं और पैरों को ì >>और पढ़ें

  • 'वेद' प्रकाश पुंज

    'वेद' वह आकाश पुंज है जो हमारे जीवन को प्रकाशित कर हमारा मार्गदर्शन करते हैं। यह शुद्ध ज्ञान सनातन है। आधुनिक शिक्षा का ज्ञान व्यक्ति व समाज की चेतना से लुप्त हो सकता है किंतु वैदिक-ज्ञान प्रकृति में समाहित है जिसे हम अपनी चेतना को जागृत कर प्राप्त कर सकते हैं। जब मानव ने जन्म लिया तब भी उसकी चेतना जागृत थी तभी तो उसे जब भूख लगी तो उस >>और पढ़ें

  • उच्च शिक्षा के सुधार में बाधाएं

    पूरी दुनिया में भले ही भारत के आईआईटी का डंका बज रहा हो, परंतु सही बात तो यह है कि देश में उच्च शिक्षा का स्तर उठ नहीं पा रहा है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा नित ही कोई न कोई नियम निकाल कर उच्च शिक्षा गुणवत्ता लाये जाने के प्रयास किये जाते हैं, लेकिन दूसरी ओर खुद उसी के द्वारा उच्च शिक्षा के साथ खिलवाड़ की जाती है। यूजीसी, सरकार और विश्वविद्य& >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in