महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • वैशाख माह की महिमा

    भोपाल (महामीडिया) विशाखा नक्षत्र से सम्बन्ध होने के कारण इस माह को वैशाख कहा जाता है. इस महीने में धन प्राप्ति और पुण्य प्राप्ति के तमाम अवसर आते हैं. मुख्य रूप से इस महीने में भगवान विष्णु, परशुराम और देवी की उपासना की जाती है. वर्ष में केवल एक बार श्री बांके बिहारी जी के चरण दर्शन भी इसी महीने में होते हैं. इस महीने में गंगा या सरोवर स्नान का ë >>और पढ़ें

  • वैशाख मास में की जाती है भगवान विष्णु की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) आज से वैशाख मास शुरू हो रहा है। हिन्दू धर्म में वैशाख मास का बहुत महत्व है। आज से शुरू होकर वैशाख मास की पूर्णिमा तक यम-नियम आदि चलेंगे। माना जाता है कि वैशाख मास की पूर्णिमा को ही ब्रह्मा जी ने काले और सफेद तिल उत्पन्न किये थे, जिसके उपलक्ष्य में वैशाख पूर्णिमा को तिल युक्त जल से स्नान करने, अग्नि में तिलों की आहुति देने और & >>और पढ़ें

  • हनुमान जयंती पर देर रात तक खुले रहे मंदिर, चलता रहा भंडारा

    भोपाल (महामीडिया) देश भर में कल हनुमान जनमोत्सव हर्षोल्लास के साथ श्रद्धापूर्वक मनाया गया। राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के कई स्थानों पर रात भर मंदिरों के पट खुले रहे, साथ ही भंडारा आदि कार्यक्रम देर रात तक चलता रहा। इस अवसर पर हनुमान मंदिरों को पुष्पों से सजाया गया था। रात को रंगीन रोशनी की गई। हनुमान मंदिरों में हनुमान प्रतिमा पर चोला च >>और पढ़ें

  • मंदसौर का एक अनोखा मंदिर जहां चोला चढ़ाने के लिए भी होती है वेटिंग लिस्ट

    मंदसौर  (महामीडिया) आज हनुमान जयंती है। आज हनुमान जी के दर्शन के लिये मंदिरों में भक्तों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं। इन सबके बीच मध्यप्रदेश के मंदसौर में एक ऐसा अनोखा मंदिर भी है जहां भगवान हनुमान को चोला चढ़ाने के लिये लंबा इंतजार करना पड़ता है। यह इंतजार कुछ दिनों या महीनों का नहीं बल्कि वर्षों का होता है. यहां चोला चढ़ाने के लिए जो भक >>और पढ़ें

  • हर्षोलास के साथ मनाई जा रही है हनुमान जयंती

    भोपाल (महामीडिया) आज हनुमान जयंती है। चैत्र शुल्क पक्ष की पूर्णिमा को हनुमान जंयती मनाई जाएगी। आज ही के दिन भगवान शिव के 11वें रुद्रावतार, यानी श्री हनुमान जी का जन्म हुआ था। वैसे मतांतर से चैत्र पूर्णिमा के अलावा कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को भी हनुमान जयंती के रूप में मनाया जाता है। यह पर्व हिंदू धर्म में बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया é >>और पढ़ें

  • आज महावीर जयंती है

    भोपाल (महामीडिया) आज जैन समुदाय का सबसे बड़ा पर्व महावीर जयंती है। यह पर्व जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर महावीर स्वामी के जन्म कल्याणक के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। इस त्योहार को महावीर जयंती के साथ साथ महावीर जन्म कल्याणक नाम से भी जानते है। ग्रंथों के अनुसार, 23वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ जी के मोक्ष प्राप्ति के बाद 298 वर्ष बाद महावीर स्वामी का ज&# >>और पढ़ें

  • खरमास समाप्तः विवाह कार्यक्रम शुरू

    भोपाल (महामीडिया) रविवार को खरमास समाप्त होने के बाद अब पुनः सभी मांगलिक कार्य शुरू हो गये हैं। ऐसा भी माना जाता है कि खरमास अवधि में गुरु और शुक्र नक्षत्र अस्त रहते हैं। वहीं हिंदू धर्म शास्त्र में शादी-विवाह और अन्य शुभ कार्यों के लिए बृहस्पति और शुक्र ग्रह का उदय होना अनिवार्य है। इसी के चलते खरमास में शुभ कार्य नहीं होते हैं। अब सभी शु >>और पढ़ें

  • अष्टमी-नवमीं पर पूजी जायेंगी कन्यायें

    भोपाल (महामीडिया) देशभर में नवरात्र की अष्टमी और नवमी तिथि पर कन्या पूजन का विशेष महत्व है। यदि कोई सच्चे मन से देवी मां की आराधना करते हुए कन्याओं का पूजन करता है तो उसकी सभी मनोकामनाएं बहुत जल्द पूरी होती हैं। नौ कन्याओं को नौ देवियों के रूप में पूजन के बाद ही भक्त व्रत पूरा करते हैं। नवरात्र की सप्तमी से कन्या पूजन शुरू हो जाता है। सप्तë >>और पढ़ें

  • हिन्दू धर्म का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है राम नवमी

    भोपाल (महामीडिया) राम नवमी हिन्दू धर्म का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। राम नवमी आज है। आज ही महाष्टमी का व्रत और पूजन तथा घर-घर मे की जाने वाली नवमी पूजा होगी। इस प्रकार 13 अप्रैल को महाष्टमी और महानवमी दोनों का व्रत होगा। क्योंकि 13 अप्रैल को सुबह 08:16 बजे के बाद ही नवमी तिथि लग जाएगी जो 14 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक ही विद्यमान रहेगी। अत: नवमी तिथि में ही & >>और पढ़ें

  • आज अष्टमी और नवमी एक साथ

    भोपाल (महामीडिया) आज अष्टमी तिथि 13 अप्रैल दोपहर पहले 11:42 पर ही समाप्त हो जायेगी, उसके बाद नवमी तिथि लग जायेगी जो कि 14 अप्रैल सुबह 09:36 तक रहेगी। इस प्रकार नवमी तिथि दो दिनों तक रहेगी। जब नवमी दो तिथियों में हो और पहली तिथि के मध्याह्न में नवमी हो, तो नवमी का व्रत पहली तिथि को ही किया जाना चाहिए। चूंकि 14 को नवमी तिथि दोपहर होने से पहले ही सुबह 09:36 पर समाप्त हो जाय& >>और पढ़ें

  • नवरात्र के आठवे दिन होती है माता महागौरी की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) नवरात्र के आठवें दिन दुर्गा की आठवीं शक्ति माता महागौरी की उपासना की जायेगी। महागौरी का रंग पूर्णतः गोरा होने के कारण इन्हें महागौरी कहा जाता है। आज के दिन महागौरी की उपासना करने से धन-सम्पत्ति में वृद्धि होती है और व्यक्ति के अंदर असंभव को संभव बनाने की शक्ति उत्पन्न होती है। अतः इन सब चीज़ों की प्राप्ति के लिये देवी &# >>और पढ़ें

  • रामनवमी आज

    भोपाल (महामीडिया) हिन्दू त्योहारों में राम नवमी का विशेष स्थान होता है। यह त्योहार भगवान राम के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। राम नवमी का पर्व आज मनाया जाएगा। राम नवमी से ही चैत्र नवरात्रि का समाप्ति हो जाती है। भगवान राम विष्णु के अवतारों में से एक है। भगवान राम का जन्म चैत्र मास के नवमी तिथि को पुष्य नक्षत्र में हुआ था। शास्त्रों के >>और पढ़ें

  • विनय भाव के प्रतीक श्रीराम

    भोपाल (महामीडिया) रामनवमी का त्यौहार प्रत्येक वर्ष चैत्र माह की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि की मनाया जाता है। इस दिन को श्रीराम के जन्‍मदिन की स्‍मृति में मनाया जाता है। श्रीराम सदाचार के प्रतीक हैं, इन्हें मर्यादा पुरुषोतम कहा जाता है। शास्त्रों के अनुसार त्रेता युग में चैत्र शुक्ल नवमी के दिन रघुकुल शिरोमणि महाराज दशरथ एवं महारानी कौश >>और पढ़ें

  • नवरात्र की महासप्तमी के दिन होती है माँ कालरात्रि देवी की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) आज चैत्र नवरात्र का सातवां दिन है। आज के दिन मां दुर्गा के सातवें स्वरूप माँ कालरात्रि की पूजा की जायेगी। माँ कालरात्रि देवी के स्मरण मात्र से ही भूत-पिशाच, भय और अन्य सभी तरह की परेशानी दूर हो जाती हैं। अतः आज के दिन मां कालरात्रि की पूजा बड़ी ही फलदायी है। मां दुर्गा ने असुरों के राजा रक्तबीज का वध करने के लिए मां कालरात >>और पढ़ें

  • नवरात्र के पांचवे दिन होती है स्कंदमाता की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) आज चैत्र नवरात्र का पांचवा दिन है। आज नवरात्र के पांचवे दिन मां दुर्गा के रुप स्कंदमाता की पूजा की जाती है। स्कंदमाता को कार्तिकेय की माता माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि संतान की प्राप्ति और मोक्ष की प्राप्ति के लिए स्कंदमाता की आराधना करनी चाहिए। स्कंद का अर्थ है कुमार कार्तिकेय अर्थात माता पार्व >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in