महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • हिंदू धर्म में मोक्षदा एकादशी का बहुत महत्व है

    भोपाल (महामीडिया) हिंदू धर्म में एकादशी का व्रत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। प्रत्येक वर्ष चौबीस एकादशियाँ होती हैं। जब अधिकमास या मलमास आता है तब इनकी संख्या बढ़कर 26 हो जाती है। मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस बार मोक्षदा एकादशी 18 दिसंबर को है। ऐसी पौराणिक मान्‍यता है कि मोक्षदा एकादशी का व्रत करन&# >>और पढ़ें

  • साढ़े साती और अढ़ैया वाले लोगों को मिलेगी 17 दिसंबर को राहत

    नई दिल्ली (महामीडिया) शनि की साढ़े साती और अढ़ैया वाले से परेशान लोगों को 17 दिसंबर से राहत मिल सकती है। सूर्य 16 दिसंबर को धनु राशि में प्रवेश करने वाले हैं जहां वह अपने पुत्र शनि से मिलेंगे। सूर्य और शनि के मिलन के चलते शनि 17 दिसंबर को अस्त हो जाएगा और एक माह तक यही स्थिति बनी रहेगी। इसके चलते शनि की साढ़े साती और अढ़ैया से परेशान चल रहे जातकों को >>और पढ़ें

  • विवाह पंचमी 12 दिसंबर को, हुई थी श्रीराम और माता सीता की शादी

    भोपाल (महामीडिया) मार्गशीर्ष महीने की शुक्‍ल पक्ष पर आने वाली पंचमी को विवाह पंचमी के रूप में मनाया जाता है. हिंदू पंचांग के अनुसार, विवाह पंचमी भगवान श्रीराम और माता सीता की शादी की सालगिरह के रूप में मनाए जाने वाले एक लोकप्रिय हिंदू त्यौहार है. किसी भी हिंदू शादी के समान, विवाह पंचमी त्योहार कई दिनों पहले शुरू हो जाता है. भारत में कई स्था >>और पढ़ें

  • साढ़े साती और अढ़ैया वाले लोगों को मिलेगी 17 दिसंबर को राहत

    नई दिल्ली (महामीडिया) शनि की साढ़े साती और अढ़ैया वाले से परेशान लोगों को 17 दिसंबर से राहत मिल सकती है। सूर्य 16 दिसंबर को धनु राशि में प्रवेश करने वाले हैं जहां वह अपने पुत्र शनि से मिलेंगे। सूर्य और शनि के मिलन के चलते शनि 17 दिसंबर को अस्त हो जाएगा और एक माह तक यही स्थिति बनी रहेगी। इसके चलते शनि की साढ़े साती और अढ़ैया से परेशान चल रहे जातकों को >>और पढ़ें

  • साढ़े साती और अढ़ैया वाले लोगों को मिलेगी 17 दिसंबर को राहत

    नई दिल्ली (महामीडिया) शनि की साढ़े साती और अढ़ैया वाले से परेशान लोगों को 17 दिसंबर से राहत मिल सकती है। सूर्य 16 दिसंबर को धनु राशि में प्रवेश करने वाले हैं जहां वह अपने पुत्र शनि से मिलेंगे। सूर्य और शनि के मिलन के चलते शनि 17 दिसंबर को अस्त हो जाएगा और एक माह तक यही स्थिति बनी रहेगी। इसके चलते शनि की साढ़े साती और अढ़ैया से परेशान चल रहे जातकों को >>और पढ़ें

  • गुरु नानकदेवजी की जयंती आज

    भोपाल (महामीडिया) सिखों के पहले गुरु नानकदेवजी की जयंती देशभर में प्रकाश पर्व के रूप में मनाई मनाई जा रही है। जगह-जगह गुरु नानकदेवजी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में विशाल नगर कीर्तन निकाला जा रहा है। इस दौरान पंज प्यारे नगर कीर्तन की अगुवाई करते हैं। श्री गुरुग्रंथ साहिब को फूलों की पालकी से सजे वाहन पर सुशोभित करके कीर्तन विभिन्न जगहों स >>और पढ़ें

  • कार्तिक पूर्णिमा आज

    भोपाल (महामीडिया) आज देशभर में कार्तिक पूर्णिमा का त्यौहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। जगह-जगह नदियों, तालाबों में, सरोवरों में लोग स्नान-दान आदि का मुक्तभाव से लाभ उठा रहे हैं। कार्तिक मास की पूर्णिमा को कार्तिक पूर्णिमा कहा जाता है। मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु की खास पूजा और व्रत करने से घर में यश और कीर्ति की प्राप्ति होती है। कार्तिक प >>और पढ़ें

  • देवउठनी एकादशी आज, होगा तुलसी-सालिगराम का विवाह

     भोपाल   (महामीडिया)      राजधानी में देवउठनी एकादशी सोमवार को धूमधाम से मनाई जाएगी। तुलसी-सालिगराम का विवाह होगा। देव उठने के साथ ही शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे। हालांकि वैवाहिक शुभ मुहूर्त 8 दिसंबर से प्रारंभ होंगे। दिसंबर में केवल चार दिन ही मुहूर्त है। बाकी मुहूर्त 2019 में हैं। नए साल में कुल 107 दिन विवाह की शहनाइयां बजेंगी।नवंबर व दिसंबर &# >>और पढ़ें

  • देवउठनी ग्यारस त्‍यौहार आज

    आज सोमवार को देवोत्थान एकादशी यानी देव उठनी एकादशी है। आज के दिन भगवान विष्णु अपनी निंद्रा से जागते हैं।  इसके अलावा इस दिन शालीग्राम के साथ तुलसी विवाह भी कराया जाता है।  ऐसे में इस दिन तुलसी पूजा भी की जाती है। 
    ज्योतिषाचार्य सुजीत जी महाराज के अनुसार देवउठनी एकादशी का शुभ मुहूर्त 19 नवंबर को सुबह 06 बजकर 48 मिनट से लेकर 08 बजकर 56 मिनट तक है। देवउ >>और पढ़ें

  • देवउठनी एकादशी से शुरू होते हैं मांगलिक कार्य

    नई दिल्ली (महामीडिया) देवउठनी एकादशी देवोत्थान एकादशी के नाम से भी प्रसिद्ध है। देवउठनी एकादशी से ही सारे शुभ कार्य जैसे, विवाह, मुंडन और अन्य मांगलिक कार्य होने शुरू होते हैं। इस दिन शलिग्राम से तुलसी विवाह भी किया जाता है। मान्यता है कि इस व्रत को करने से एक हजार अश्वमेध यज्ञ करने जितना फल प्राप्त होता है। ऐसी मान्यता है कि यदि किसी व्य >>और पढ़ें

  • देवउठनी एकादशी कल

    भोपाल (महामीडिया) देवउठनी एकादशी कल है। कार्तिक महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी को बहुत महत्वपूर्ण जाता है। मान्यता है कि इस दिन ही भगवान विष्णु क्षीर सागर में 4 महीने की निद्रा के बाद जागते हैं, और उनके जागने के बाद ही सभी तरह के शुभ और मांगलिक कार्य फिर से शुरू होते हैं। हिंदू पुराणों और शासत्रों के अनुसार देवउठनी एकादशी के दिन सभी देवी-देë >>और पढ़ें

  • आज मनाई जा रही है आंवला नवमी

    भोपाल(महामीडिया)   कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को आंवला नवमी मनाई जाती है, जिसे अक्षय नवमी भी कहा जाता है। इस साल यह 17 नवंबर 2018 को मनाई जा रही है। इस दिन महिलाएं आंवला के पेड़ के नीचे बैठकर संतान प्राप्ति और उनकी सलामती के लिए पूजा करती हैं। इस दिन आंवला के पेड़ के नीचे बैठकर भोजन करने का भी चलन है।आंवला नवमी के दिन आंवला के वृक्ष के नीचे भ >>और पढ़ें

  • देवउठनी एकादशी 19 को

    भोपाल (महामीडिया)  पिछले चार माह से जुलाई महीने में पड़ी देवशयनी एकादशी से देवगण विश्राम कर रहे हैं। इसके चलते सभी तरह के शुभ संस्कारों पर रोक लगी हुई है। अब चार दिन बाद 19 नवंबर को पड़ रही देवउठनी एकादशी से देवगण पुन: जागेंगे। देवगणों के जागने का समय शुरू होते ही शुभ संस्कार किए जा सकेंगे।देवउठनी एकादशी पर भगवान विष्णु की पूजा और शालिग्राम-तुलसी  >>और पढ़ें

  • भाई दूज और यम द्वितीया आज

    नई दिल्ली  (महामीडिया)     दिवाली के पांच दिनी त्योहार का आखिरी दिन भाई दूज आज बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है. गोवर्धन के अगले दिन भाई दूज का त्योहार मनाया जाता है. भ्रातृ द्वितीया भाई दूज कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाने वाला पर्व है, जिसे यम द्वितीया भी कहते हैं. इस दिन बहनें अपने भाईयों के माथे पर तिलक लगाकर उनकी आ >>और पढ़ें

  • आज है गोवर्धन पूजा

    नई दिल्ली  (महामीडिया)     पांच दिन के त्योहार के चौथे यानि दिवाली के अगले दिन गोवर्धन पूजा की जाती आज, . देशभर में आज  गोवर्धन का त्योहार मनाया जा रहा है. इस दिन भगवान कृष्‍ण, गोवर्धन पर्वत और गायों की पूजा का विधान है. इस त्योहार पर गोबर से घर के आंगन में गोवर्धन पर्वत का चित्र बनाकर पूजन किया जाता है. मान्‍यता है कि इसी दिन भगवान कृष्‍ण ने देव राज इ&# >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in