महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • उज्जैन में भी है गयातीर्थ

    उज्जैन (महामीडिया) पुराणों में उज्जैन को मोक्षतीर्थ के रुप में जाना जाता है। यहां किसी भी व्यक्ति का अंतिम संस्कार करने के बाद उसकी आत्मा की शांति और मोक्ष के लिए किये जाने वाले विधानों में उज्जैन का विशेष महत्व है। यह ऐसा तीर्थ है जहां मृतात्मा की आत्मा की शांति के लिए किए जाने वाले श्राद्ध कर्म का पुण्यफल प्राप्त होता है। 
  • आज घर-घर में होगी माता महालक्ष्मी की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) आज महालक्ष्मी पूजा है। आज घरों में गजलक्ष्मी व्रत का पूजन होगा। इसमें मिट्टी के हाथी पर सवार माता लक्ष्मी की पूजा होती है। घर-घर में हाथी पर सवार माता लक्ष्मी की मिट्टी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। घरों में विभिन्न नमकीन व मिष्ठान्न बनाए जाएंगे, जिसमें आटे के मिष्ठान्न प्रमुख होंगे इस व्रत पर महिलाएं व्रत रखती हैं। क >>और पढ़ें

  • आज महालक्ष्मी पूजा है

    भोपाल (महामीडिया) आज महालक्ष्मी पूजा है। इसे गजलक्ष्मी व्रत भी कहा जाता है। आश्विन कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि पर पुत्र की दीर्घायु, आरोग्य तथा सर्वाधिक कल्याण के लिए जीवत्पुत्रिका जितिया और हाथी पूजा एवं महालक्ष्मी पूजा की जाती है। आज के दिन घर- घर में पार्थिव हाथी के साथ महालक्ष्मी जी की पूजा-अर्चना की जाएगी। इस व्रत को रखने से मां लक्ष्म >>और पढ़ें

  • श्राद्ध में पितृों तक ऐसे पहुंचता है भोजन

    भोपाल[ महामीडिया ]सनातन संस्कृति में पितृों के प्रति आदरभाव अनादिकाल से चली आ रही परंपरा का हिस्सा है। इसलिए सनातन परंपरा में संयुक्त परिवार की कल्पना कर उसको साकार किया गया। परिवार में एक-दूसरे के प्रति आदरभाव, सम्मान और घनिष्ठता का ताना-बाना बुना गया, ताकि परिवार एक डोर में बंधकर होती है। इस तरह से मानव द्वारा बनाए गए छोटे-छोटे से पिंड& >>और पढ़ें

  • गजच्छाया योग में किया गया श्राद्ध होता है श्रेष्ठ

    भोपाल   [ महामीडिया ]   भारतीय संस्कृति में अपने से वरिष्ठजनों के सम्मान का और अपने से छोटों को स्नेह देने की परंपरा का भाव छिपा हुआ है। जीवित रहते हुए परिजनों को सम्मान दिया जाता है और देहलोकगमन के बाद उनकी स्मृति में विविध प्रकार के कर्मकांड किए जाते हैं। ये सभी कर्मकांड पितृों के प्रति सम्मान प्रगट करने के लिए किए जाते हैं। इन्ही पितृ >>और पढ़ें

  • विश्वकर्मा जयंती आज

    भोपाल (महामीडिया) पूरे देश में आज विश्वकर्मा जयंती मनाई जा रही है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान विश्वकर्मा को दुनिया का सबसे पहला इंजीनियर और वास्तुकार माना जाता है। विश्वकर्मा जयंती प्रति वर्ष कन्या संक्रांति के दिन के मनाई जाती है। इस दिन लोग अपने कार्य स्थल पर भगवान विश्वकर्मा की विशेष पूजा अर्चना करते हैं। माना जाता है कि इ >>और पढ़ें

  • आज से शुरू हुए श्रद्धपक्ष

    भोपाल[ महामीडिया ] अपने पूर्वजों के प्रति श्रद्धा और सम्मान प्रकट करने का पर्व श्राद्ध पक्ष या पितृ पक्ष 13 सितंबर, शुक्रवार से शुरू हो रहा है। अगले 16 दिन पितरों के प्रसन्न करने के लिए श्राद्ध कर्म किए जाएंगे। शास्त्रों में लिखा है कि पितृों के प्रसन्न होने पर देवता भी प्रसन्न होते हैं। इसलिए इन 16 दिन विशेष बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए। जान& >>और पढ़ें

  • पूर्वजों के प्रति श्रद्धा प्रकट करने का अवसर है पितृपक्ष

    भोपाल (महामीडिया) पितरों का हमारे जन्म, संस्कार और भावनाओं से संबंध होता है। शास्त्रों के अनुसार जिस किसी के परिजन अपने शरीर को छोड़कर चले गए हैं, उनकी तृप्ति और उन्नति के लिए श्रद्धा के साथ जो शुभ संकल्प और तर्पण किया जाता है, उसे श्राद्ध कहा जाता है। ऐसी मान्यता है कि मृत्यु के देवता यमराज श्राद्ध पक्ष में जीव को मुक्त कर देते हैं, ताकि वे &# >>और पढ़ें

  • गणेश विसर्जन आज

    भोपाल (महामीडिया) आज है अनंत चतुर्दशी। गणेश उत्सव का समापन अनंत चतुर्दशी के दिन ही होता है। गणेश चतुर्थी के दिन बप्पा को लोग घर में विराजमान करते हैं और अनंत चतुर्दशी के दिन बप्पा को विदाई दी जाती है। इस दिन ?अनंत? भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। इस दिन लोग सार्वजनिक पंडालों और घरों में प्रतिष्ठापित गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन पानी में करत >>और पढ़ें

  • आज भगवान विष्णु के अनंत रूप की होती है पूजा

    नई दिल्ली [ महामीडिया ]अनंत चतुर्दशी का त्योहार आज पूरे देश में मनाया जा रहा है  ।इस दिन भगवान विष्णु के अनंत रूप की पूजा की जाती है और व्रत रखा जाता है ।आज के दिन पूजा के बाद लोग अनंत सूत्र भी बांधते हैं. इसे पुरुष अपने बाएं हाथ में और स्त्रियां अपने दाएं हाथ में बांधती हैं ।अनंत चतुर्दशी का महत्व एक और चीज के लिए बेहद खास है ।इसी दिन गणपति को 10  >>और पढ़ें

  • आज राधा अष्टमी है

    मथुरा (महामीडिया) भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को श्रीराधा अष्टमी पर्व मनाया जाता है। हिन्दू धर्म के अनुसार अष्टमी के दिन श्रीकृष्ण की बाल सहचरी राधाजी का जन्म हुआ था। राधा के बिना श्रीकृष्ण का व्यक्तित्व अधूरा माना जाता है। इस व्रत को रखने से व्यक्ति अपने समस्त पापों से मुक्त होकर मोक्ष प्राप्त कर लेता है। आज ब्रज में राध >>और पढ़ें

  • राधा अष्टमी आज

    भोपाल (महामीडिया) कृष्ण जन्माष्टमी के 15 दिन के बाद यानी आज राधा अष्टमी मनाई जा रही है। इस दिन राधा का जन्म हुआ था इसलिए इसे राधा अष्टमी के तौर पर मनाते हैं। बरसाने में इसे धूमधाम से मनाया जाता है क्योंकि राधा बरसाने की ही थीं। बरसाना के सभी मंदिरों में राधा अष्टमी की खास रौनक दिखती है। इस दिन पति और बेटे की लंबी उम्र के लिए व्रत रखने का भी नियम >>और पढ़ें

  • ऋषि पंचमी आज

    भोपाल [ महामीडिया ] सावन मास यदि देवादिदेव महादेव को समर्पित है तो भाद्रपद मास में भी कई विशेष तिथियां आती है, जिन तिथियों पर देवी-देवताओं की आराधना कर उनकी कृपा प्राप्त की जा सकती है। गणेशोत्सव के दूसरे दिन ऐसी ही एक विशेष तिथि है जिसको महिलाएं विधि-विधान के साथ व्रत रखकर मनाती है। इस तिथि का नाम ऋषि पंचमी है और मान्यता है कि इस तिथि को व्रत, >>और पढ़ें

  • श्री गणेश उत्सव आज से

    भोपाल (महामीडिया) आज से गणेश चतुर्थी का महापर्व शुरू हो रहा है। देशभर में गणपति का स्वागत धूमधाम से किया जा रहा है। चाहे बात महाराष्ट्र की करें या फिर दिल्ली की, हर कोई गणेश चतुर्थी के पहले दिन काफी खुश दिखाई दे रहा है। चलिए देखते हैं कहां कैसे मनाया जा रहा है 
    कर्नाटक के बंगलूरू में स्थित एक मंदिर में नौ हजार नारियल से भगवान गणेश की  >>और पढ़ें

  • गणेश चतुर्थी आज है

    भोपाल (महामीडिया) आज देशभर में गणेश चतुर्थी का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस दिन लोग अपने घरों में भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना करते हैं और 9 दिनों तक इसकी पूजा अर्चना करते हैं। और 10वें दिन धूमधाम के साथ भगवान गणेश की मूर्ति का विसर्जन करते हैं। भगवान गणेश का जन्म भाद्रपद माह के शुक्लपक्ष की चतुर्थी और स्वाति नक्षत्र और सिंह लग् >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in