जेट एयरवेज के कर्मचारियों की माली हालत खराब

www.mahamediaonline.comकॉपीराइट © 2014 महा मीडिया न्यूज सर्विस प्राइवेट लिमिटेड

नई दिल्ली (महामीडिया) लगभग 14,000 लोगों को सीधे तौर पर रोजगार देने वाली जेट एयरवेज भीषण आर्थिक संकट से गुजर रही है। कंपनी ने मार्च से हर कर्मचारी का वेतन रोक दिया है। जिससे उन्हें भारी आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। जेट एयरवेज के एक कर्मचारी ने अपने बेटे के इलाज के लिये मदद मांगी। उन्होंने, 'एचआर से यह गुजारिश है कि वह मेरी तीन महीने की सैलरी रिलीज को रिलीज करे। बेटे के इलाज के लिए 25 लाख रुपयों की जरूरत है। मेरे पास अपने सभी साथियों से इस मुश्किल वक्त में मदद करने की अपील के अलावा कोई चारा नहीं हैं।' इसके बावजूद कैश के संकट से जूझ रहा मैनेजमेंट और पायलट फंड नहीं जुटा सके और बीमारी से जूझते हुए बेटे की मौत हो गई। जेट एयरवेज के लोडर सुपरवाइजर के तौर पर काम करने वाले 45 वर्षीय सुखबीर सिंह कहते हैं कि उनकी जमा पूंजी लगभग खत्म होने को है। सुखबीर सिंह कहते हैं, 'मुझे अपनी बेटी की कोचिंग क्लासेज की फीस चुकानी है ताकि उसे लॉ में ऐडमिशन मिल सके। लेकिन मेरे पास बेटे की स्कूल फीस चुकाने के लिए पर्याप्त पैसे नहीं हैं।'