पश्चिम बंगाल के पानीहाटी में वार्षिक 'दही- चूड़ा' महोत्सव शुरू

www.mahamediaonline.comकॉपीराइट © 2014 महा मीडिया न्यूज सर्विस प्राइवेट लिमिटेड

कोलकाता (महामीडिया)  पश्चिम बंगाल के पानीहाटी में हर वर्ष मनाया जाने वाला प्रसिद्ध दही- चूड़ा महोत्सव शुरू हो गया है। यह उत्सव 16 जून तक चलेगा। 24 परगना जिले में स्थित पानीहाटी में देश-विदेश से आगंतुकों की भीड़ जुटना शुरू हो गई है। श्री चैतन्य महाप्रभु के अनन्य भक्त रघुनाथ दास गोस्वामी द्वारा शुरू किए गए दही-चूड़ा महोत्सव की ख्याति इतनी है कि आज भी लाखों भक्त एकत्र होते हैं। मेले की साज-सज्जा से लेकर गंगा तट पर सार्वजनिक दही-चूड़ा का भोज यहां आने वालों को खूब रास आता है।जानकारी के अनुसार, पानीहाटी में प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ शुक्ल की त्रयोदशी को दही-चूड़ा का विशेष भोज होताहै। 15 जून को ?दंड महोत्सव? विशेष महोत्सव मनाया जायेगा, जिसे लोग ?दही-चूड़ा महोत्सव? के नाम से जानते हैं। इसमें केवल वैष्णव संप्रदाय के ही नहीं, बल्कि शैव व अन्य संप्रदाय के अनुयायी भी शामिल होते हैं। बता दें कि, इस उत्सव की शुरूआत 500 वर्ष पहले रघुनाथ दास गोस्वामी द्वारा की गई थी।