फिर लगने वाला है सूर्य ग्रहण

फिर लगने वाला है सूर्य ग्रहण

भोपाल [ महामीडिया ]पिछले साल के अंतिम सप्‍ताह और इस साल के पहले सप्‍ताह में ग्रहण का संयोग था। पहले सूर्य ग्रहण उसके बाद चंद्र ग्रहण लगा था। अब इस साल फिर से सूर्य ग्रहण की घटना होने जा रही है। आगामी 21 जून, 2020 को जो सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है, वह कंकणाकृति का है। इसका अर्थ यह है कि इससे कोरोना का रोग नियंत्रण में आना शुरू हो जाएगा। यह ग्रहण भारत में खंडग्रास रूप में दिखाई देगा। भारतीय मानक समय अनुसार ग्रहण का आरंभ दिन में 10 बजकर 42 मिनट पर होगा। ग्रहण का मध्‍य 12 बजकर 29 मिनट दोपहर पर होगा एवं इसका मोक्ष दोपहर 2 बजकर 7 मिनट पर होगा। ग्रहण की अवधि 3 घंटे की रहेगी। यह अधिकांश भू-मंडल पर दिखाई देगा। इससे पहले 5 जून को चंद्र ग्रहण भी लगेगा। साल के अंत में एक और सूर्य ग्रहण होगा।यह सूर्य ग्रहण मृगशिरा नक्षत्र में मिथुन राशि पर होगा। ज्‍योतिष गणना के अनुसार इसका प्रभाव मिला जुला रहेगा। इसके चलते संभलकर रहने की जरूरत है। ज्‍योतिष पंडित गणेश शर्मा का कहना है कि इस ग्रहण के प्रभाव स्‍वरूप देश व दुनिया में पड़ोसी राष्‍ट्रों के आपसी तनाव, अप्रत्‍यक्ष युद्ध, महामारी, किसी बड़े नेता की हानि, राजनीतिक परिवर्तन, हिंसक घटनाओं में इजाफा, आर्थिक मंदी आदि पनपने के संकेत हैं। जहां तक भारत की बात है, विश्‍व में भारत का प्रभाव बढ़ेगा। महामारी से कई देशों को नुकसान होगा।

सम्बंधित ख़बरें